भारत में भयावह हुआ कोरोना, एक दिन में मिले 3900 नए मामले, मौ’तों के टूटे अब तक के सारे रेकॉर्ड

भारत में कोरोना वायरस अब भयावह होता जा रहा है. कोरोना का अभी तक कोई इलाज भी नहीं मिला है. लॉकडाउन का तीसरा चरण लागू कर 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. इसी बीच राज्य सरकारों ने सोमवार से शराब दुकानें भी खोल दी है. अब कोरोना वायरस अपने ही सारे रिकॉर्ड तोड़कर नया रिकॉर्ड बना लिया है.ये अब तक की सबसे बड़ी बढ़त है।

लॉकडाउन में छूट के एक दिन बाद ही कोरोना सं’क्रमण के मामलों में अब तक के सारे रेकॉर्ड टूट चुके है. पिछले चौबीस घंटों में अब तक सबसे अधिक लोगों की मौ’त हुई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार (5 मई, 2020) को एक बयान जारी कर बताया कि पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 3900 नए मामलों की पुष्टि हुई है. ये अब तक की सबसे बड़ी बढ़त है।

भारत में कोरोना सं’क्रमितो की संख्या 46 हजार पार हुई

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3900 नए मामले सामने आए हैं और 195 लोगों की मौ’त हुई है. मंगलवार को जारी स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 46433 हो गए हैं वही कोरोना से अब तक 1568 लोगों की मौ’त हो चुकी है। कोरोना के कुल 46,433 केसों में 32,134 एक्टिव केस हैं।

राहत वाली खबर यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 12,727 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है. कोरोना वायरस से अब तक सर्वाधिक 583 लोगों की मौ’त सिर्फ महाराष्ट्र अकेले में हुई है. यहां अब इस म’हामा’री से पी’ड़ि’तों की संख्या 17, 589 हो गई है।

वही ब्रिटेन में कोविड-19 के कारण जा’न गंवाने वालों की संख्या इटली में म’रने वालों के करीब पहुंच गई है. जो यूरोप में इस बीमारी का केंद्र बना हुआ है. ब्रिटेन की आबादी इटली से कम है लेकिन ब्रिटेन के पास इस महा’मा’री का मुकाबला करने के लिए ज्यादा वक्त था।

अमेरिका में भी रोजाना हजारों नए मामले सामने आ रहे हैं. स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेताया है कि बंद में राहत के दौरान अगर जांच की संख्या को नहीं बढ़ाया गया तो सं’क्रम’ण का दूसरा दौर आ सकता है. हालांकि, दुनिया भर में बंदी की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था के 1930 के दशक की मंदी के स्तर पर पहुंच गई है।

Leave a Comment