देखें फोटो: इरफान खान के अंतिम दर्शन के लिए अस्पताल पहुंचे परिवार और करीबी, जानें परिवार में और कौन-कौन हैं?

नई दिल्ली: बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफान खान का 54 साल की उम्र में निधन हो गया है. एक्टर इरफान खान पेट की समस्या से जूझ रहे थे अचानक इरफान की कल तबियत बिगड़ गई थी. जिसके बाद उन्हें कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान आज सुबह करीब 11 बजे उनकी मौ’त हो गई है।

आपको बता दें इरफ़ान खान का 2018 में कैंसर की बीमारी का इलाज हुआ था. इरफान के निधन के बाद बॉलीवुड में शोक की लहर है. वही 25 अप्रैल को इरफान की मां सईदा बेगम की जयपुर में मौ’त हो गई थी. कोरोना लॉकडाउन की वजह से इरफ़ान अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाए थे.

इरफान हाल ही में कैंसर को मात देने के बंद लंबे समय बाद ‘अंग्रेजी मीडियम’ के जरिए अपने चाहने वालों तक पहुंचे थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से सिनेमाघरों में प्रदर्शन प्रभावित होने के बाद फिल्म का हाल ही में ऑनलाइन प्रीमियर किया गया था।

बॉलीवुड एक्टर इरफान खान काफी समय से बीमारी से जूझ रहे थे. लंबे समय से कैंसर की जंग लड़ रहे बॉलीवुड अभिनेता इरफान खान का आज यानि 29 अप्रैल 2020, सोमवार को निधन हो गया है. (Photo Credit: Manav Manglani)

अभिनेता इरफान खान का निधन मुंबई के कोलीलाबेन अस्पताल में हुआ है. लॉकडाउन के कारण बॉडी को घर ले जाने की अनुमति नहीं है. ऐसे में परिवार और रिश्तेदार सभी इरफान खान के अंतिम दर्शन के लिए अस्पताल ही जा रहे है. (Photo Credit: Manav Manglani)

इरफान खान को कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल से सीधे कब्रिस्तान ही ले जाया जाएगा जहां उनका सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. (Photo Credit: Manav Manglani)

हुडी के टोपे से सिर और मास्क से चेहरा ढके ये इरफान खान के बड़े बेटे हैं. इरफान खान के दो बेटे है. बड़े बेटे का नाम बाबिल खान है. और छोटे बेटे का नाम अयान खान है. (Photo Credit: Manav Manglani)

इरफान खान के निधन के बाद उनके परिवार ने कहा, यह काफी दुखद है कि आज हमें उनके निधन की खबर बतानी पड़ रही है. इरफान एक मजबूत इंसान थे, जिन्होंने आखरी तक लड़ाई लड़ी और अपने संपर्क में आने वाले हर शख्स को प्रेरित किया. 2018 में एक दुर्लभ किस्म का कैंसर होने के बाद उन्होंने उससे लड़ाई लड़ी और जीवन के हर मोर्चे पर उन्होंने कई लड़ाईयां लड़ीं।

इरफान अपने परिवार के बीच अंतिम सांस ली और अपने पीछे एक महान विरासत छोड़ गए. हम दुआं करते हैं कि उन्हें शांति मिले और हम उनके द्वारा कहे शब्दों को दोहराएंगे कि ये इतना जादुई था, जैसे कि मैं पहली बार जिंदगी का स्वाद चख रहा था।

Leave a Comment