फरीदाबाद के होटल में रुकने के लेने के लिए पहुंचा गैंगस्टर विकास दुबे, ID मांगने पर भागा, 2 घंटे बाद पहुंची…

यूपी के कानपुरएनकाउंटर केस का मोस्टवांटेड विकास दुबे अब यूपी पुलिस के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है. कानपूर में हुए शू’टआ’उट के दौरान आठ पुलिसकर्मियों की ह’त्या करने के बाद से ही फरार विकास को खोजने में जुटी पुलिस के हाथ अब तक का सबसे बड़ा सुराग लगा. घटना के बाद से ही फरार विकास दुबे को पहली बार हरियाणा के फरीदाबाद के बड़खल चौक पर मौजूद श्री सासाराम होटल में देखा गया है.

लेकिन पुलिस ने होटल पहुंचने में देर कर दी जिसके चलते वह बच निकल. होटल के मालिक ने बताया कि यह शख्स साढ़े बारह बजे होटल में अपने एक साथी के साथ आया. उसने अपना नाम अंकुर बताते हुए थोड़ी देर के लिए रूम लेने की बात कही.

 

जब होटल स्टाफ ने उससे पहचान के लिए कोई दस्तावेज की डिमांड कि जिस पर उसने अपना पेन कार्ड दिया जो साफ नहीं था. जिस पर स्टाफ ने कोई दूसरा पहचान पत्र दिखाने के लिए बोला तो वो शख्स अपने साथ आए साथी के साथ वापस चला गया.

उसके करीब दो घंटे बाद हरियाणा पुलिस की क्राइम ब्रांच वहां पहुंची लेकिन पुलिस को कुछ नहीं मिला. यहां से पुलिस अपने साथ सीसीटीवी का डीवीआर लेकर चली गई. यूपी पुलिस हरियाणा पुलिस के संपर्क में है और उसकी तलाश जारी है, इसके आलावा मध्यप्रदेश और राजस्थान में भी यूपी एसटीएफ टीम निगाहें रखें हुए हैं.

 

इस पुरे मामले में चौबेपुर थाना लगातार सवालों में घिरा हुआ है. जिसके चलते मंगलवार रात थाने के सभी 68 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया. इसके साथ ही आरोपों से घिरे पुलिस उपमहानिरीक्षक का भी स्थानांतरित कर दिया गया है. पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि बिकरू कां’ड के बाद उनकी कर्तव्यनिष्ठा संदे’ह के घेरे में आ गई हैं.

पुलिस ने कई टीम बना कर विकास की खोजबीन शुरू कर दी है, इस मामले को लेकर तेजी से जांच की जा रही हैं. वहीं विकास दुबे की आपराधिक गतिविधियों में बढती संलिप्तता को देखते हुए यूपी की योगी सरकार ने विकास के सिर पर इनाम की राशि को बढ़ा कर ढाई लाख से पांच लाख रुपये कर दिया है.

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने इनाम बढ़ाते हुए कहा कि मोस्टवांटेड विकास दुबे को गिरफ्तार करवाने या फिर उसकी सुचना देने वाले को अब इनाम के रूप में पांच लाख रूपये दिये जाएगें.

वहीं इसी बीच पुलिस को एक बड़ी सफलता भी हाथ लगी हैं. सूबे के हमीरपुर जिले के मौदाहा में हुई मु’ठभे’ड़ के दौरान पुलिस ने विकास दुबे के दाहिने हाथ माने जाने वाले अमर दुबे को ढेर कर दिया हैं. अमर विकास दुबे गैंग का शातिर बदमाश बताया जा रहा हैं.

पुलिस के अनुसार बिकरू गांव में हुए शूट’आउ’ट के मामले में अमर दुबे की तलाश की जा रही थी. पुलिस ने उस पर 25 हजार का इनाम भी रखा गया. एक न्यूज रिपोर्ट के अनुसार अमर मुख्य आरोपी विकास दुबे का चचेरे भाई का लड़का बताया जा रहा हैं.

साभार- जी न्यूज़