VIDEO: तुर्की राष्ट्रपति ने फिलिस्तीन को लेकर दिया बड़ा बयान कहा- फिलिस्तीनियों को कभी हार का…

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने एक बार फिर से बड़ा बयान दिया हैं. इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच हाल ही में हुई नई दोस्ती पर दुनिया में चल रही बहस के बीच एर्दोगान ने एक बड़ा बयान दिया हैं. इसके साथ ही उन्होंने फिलिस्तीन के साथ हमेशा खड़े रहने के अपनी पुराने वादे को एक बार फिर से दोहराया हैं.

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने कहा है कि संयुक्त अरब अमीरात के इजरायल के साथ संबंध स्थापित होने के बाद भी हम फिलिस्तीनियों को कभी भी शिकस्त से दोचार होने नहीं देंगे, इसके साथ ही उन्होंने अपने राजदूत को संयुक्त अरब अमीरात से वापस बुलाने के संकेत भी दिये.

मीडिया से बातचीत करते हुए राष्ट्रपति एर्दोगान ने सभी को एक सख्त संदेश देते हुए कहा कि इजरायल के साथ यूएई का विवादास्पद समझौता सच में परेशान करने वाला हैं लेकिन फिलिस्तीन के खिलाफ उठाने वाले किसी भी कदम को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन संयुक्त अरब अमीरात के साथ अपने राजनयिक संबंधों को ख’त्म कर सकता है, इसी के चलते हमने भी इस दिशा में काम करने के लिए तुर्की विदेश मंत्री को आवश्यक निर्देश दे दिए हैं.

उन्होंने संकेत देते हुए कहा कि हम भी अबू धाबी के साथ अपने राजनयिक संबंधों को स’माप्त करने पर विचार कर रहे हैं या फिर हम जल्द ही अपने राजदूत को वापस बुला सकते हैं क्योंकि हम हमेशा से फिलिस्तीन के साथ खड़े हैं.

आपको बता दें कि हाल ही में इज़राइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच एक ऐतिहासिक शांति समझौता हुआ हैं. यह समझौता 13 अगस्त को अमेरिका के हस्तक्षेप के साथ संपन्न हुआ हैं.

इस समझौते के तहत दोनों देशों के बीच पूर्ण राजनयिक सम्बन्ध एक बार फिर से बहाल किये जाएगें. इसके साथ ही इज़राइल फिलस्तीन के वेस्ट बैंक क्षेत्र पर अपनी दावेदारी छोड़ने के लिए भी राजी हुआ हैं.

आपको बता दें कि इस समझौते पर इस्लामिक दुनिया में काफी हाहाकार मच गया है. इस समझौते की इस्लामिक देशों द्वारा कड़ी आलोचना की जा रही हैं. इसी कड़ी में ईरान ने भी इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह समझौता सभी मुस्लिमों की पीठ पर खंजर मार’ने जैसा है.