VIDEO: एकता कपूर के ‘xXx-2’ के ख‍िलाफ अब भारतीय सैनिक भड़के दर्ज की श‍िकायत, पद्मश्री बापस लेने को कहा, जानिए क्या है मामला

छोटे पर्दे पर अपने टीवी सीरियलों के लिए मशहूर प्रोड्यूसर एकता कपूर अब तक कई बड़ी फिल्मों और वेबसीरिज को भी प्रोड्यूस कर चुकी हैं. हाल ही में उनकी एक वेब सीरिज आई है जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया है. एकता कपूर अपने वेब सीरीज xXx-2 को लेकर कानूनी दांव पेंच में फंसती हुई नजर आ रही हैं. इस वेबसीरिज को लेकर लगातार शिकायतें सामने आ रही है अब पूर्व सैनिकों ने भी एकता कपूर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई हैं.

एकता कपूर की वेब सीरिज के ख‍िलाफ गुरुग्राम के पालम विहार पुलिस थाने में एक पूर्व सैनिकों ने श‍िकायत दर्ज कराई हैं. एकता कपूर की प्रोडक्ट्सन कंपनी ऑल्ट बालाजी की अडल्ट वेबसीरिज xXx-2 के खिलाफ शिकायत में पूर्व सैनिकों ने कहा है कि इस वेब सीरिज में देश के सैनिकों का अपमान किया गया है.

आपको बता दें कि एकता कपूर की यह वेब सीरीज xXx-2 आर्मी के अध‍िकारियों के जीवन की कहानियों पर आधारित हैं. बीते कई दिनों से इस वेब सीरिज में बवाल काट रखा रहा है. कई लोगों का कहना है कि इस वेब सीरिज में देश के सैनिकों और उनके परिवारों की छवि को ठेस पहुँचाने का काम किया गया है.

वहीं अब Martyrs Welfare Foundation (MWF) भी वेब सीरिज के खिलाफ आ गया है. फाउंडेशन के चेयरमैन मेजर टीसी राव ने इस मामले को लेकर कहा कि सैनिक देश के लिए अपनी जा’न देते हैं.

लेकिन इस सीरीज के प्रोड्यूसर और डायरेक्‍टर ने अपनी वेब सीरिज में दिखाया है कि जब सेना के जवान सीमा पर तैनात होते है तब उनकी पत्नियां दुसरे लोगों के साथ अफेयर चलती हैं. आखिर यह किस तरह का कॉन्‍टैंट है. उन्होंने कहा कि यह न सिर्फ आपत्त‍िजनक है बल्‍क‍ि यह देश के सैनिकों के मनोबल को भी कम करता है.

 

राव ने आगे बताया कि xXx-2 के एक सीन में दिखाया गया है कि सेना की वर्दी पर लगे अशोक स्‍तंभ और ताज के बैज को फाड़ा जा रहा हैं. यह हमारे सैनिकों और अर्धसैनिक बलों का अपमान है. वहीं इस मामले को लेकर पालम विहार पुलिस थाने के एसएचओ राजेंद्र कुमार ने कहा कि हमने श‍िकायत दर्ज कर ली है और अब हम इस मामले की जांच करने में जुटे हुए हैं.

इसके साथ ही फाउंडेशन के सदस्‍य मेजर एसएन राव ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि एकता कपूर अपनी वेब सीरीज से इन आपत्तिजनक दृश्यों को डिलीट नहीं करती हैं तो हम अपने आंदोलन को तेज कर देगें क्योंकि यह सैनिकों का अपमान है और हम इसे नहीं सहेंगे.