कोरोना: केरल के सीएम ने जनता के लिए जो किया है उसे जान कर आप यही कहेंगे काश हमारे सीएम भी कुछ सीख लेते

कोरोना वायरस यह वैश्विक महा’मा’री के खिलाफ आज दुनियां के करीब 200 देश इससे जंग लड़ रहे है.वही भारत में इस वायरस को रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई तक के लिए लागू कर दिया है. देशव्यापी लॉकडाउन में लोगों के सामने आम जनजीवन से जुड़े सामानों की व्यवस्था करना एक बहुत बड़ी चुनौती बन गया है. लॉकडाउन के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

देश के कई राज्यों में से एक केरल जहां सबसे पहले कोरोना वायरस का मामला आया था. लेकिन इसके बाद इस राज्य ने तेजी से काम करना शुरू किया. जिसका नतीजा आज केरल कोरोना वायरस जैसी म’हामा’री से उभरता जा रहा है. और केरल की चर्चा हर तरफ हो रही है. साथ ही राज्य सरकार की ओर से आम लोगों की मदद के लिए उठाए गए कदमों की भी तारीफ हो रही है।

केरल सरकार द्वारा दी गई किट की सोशल मीडिया पर काफी तारीफ हो रही है.

गौरतलब है की, केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कोरोना संकट में लोगों की मदद के लिए ऐलान किया था जिसके बाद से ही राज्य सरकार तेजी से इसपर काम कर रही है. दरअसल, केरल से एक तस्वीर सामने आई है जिससे पता चलता है कि वहां की सरकार क्वारंटाइन में रह रहे अपने नागरिकों की छोटी से छोटी जरूरतों का ध्यान रख रही है।

ट्विटर पर फिलिप मैथ्यू नाम के एक यूजर ने राशन के सामान की एक फोटो शेयर की है. इस फोटो में आटा, दाल, चावल, साबुन, तेल, मसाले सहित सभी जरूरी सामान दिखाई दे रहे हैं।

फोटो के साथ कैप्शन में फिलिप मैथ्यू ने लिखा, मैं किसी सुपरमार्केट से नहीं आ रहा हूं. यह मुफ्त क्वारंटाइन किट है. जिसे केरल सरकार द्वारा होम डिलीवरी कराया जा रहा है. इसमें साबुन से लेकर नमक तक लोगों के जनजीवन से जुड़ा हर जरूरी सामान है. बता दें सोशल मीडिया पर इस किट की काफी तारीफ हो रही है।

वही केरल के मुख्यमंत्री ने शनिवार को बताया कि हमारे लिए ये लोग प्रवासी श्रमिक नहीं बल्कि ये हमारे मेहमान हैं; यही कारण है कि हमने उनके लिए अति’थि श्र’मिक शब्द चुना है. राज्य सरकार ने अब तक 18,912 शिविरों में 3,38,426 अतिथि श्रमिकों को शरण दी गई है।

उन्होंने कहा, हमारे पास सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों और स्वास्थ्य रखरखाव का एक मजबूत नेटवर्क है. जमीनी स्तर पर भी बड़े पैमाने पर कार्य किया जा रहा है. ताकि इस संकट की घडी में किसी को भी किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो।

आपको बता दें सोशल मीडिया पर लोग इस किट के लिए केरल सरकार की तारीफ कर रहे हैं. काफी लोगों ने इस बारे में ट्वीट किए हैं. लोग लिख रहे हैं कि किसी तरह का प्रचार भी नहीं किया जा रहा है. किट पर सीएम का नाम और फोटो भी नहीं है।

द न्यूज मिनट की खबर के अनुसार, केरल सरकार जरूरी सामान की किट घरों तक पहुंचा रही है. इस किट में 17 तरह का सामान है. 10 अप्रैल से किट की सप्लाई शुरू हो गई है. राशन कार्ड की दुकानों के जरिए यह किट लोगों तक घर घर पहुंचाई जा रही है।

किट में यह 17 तरह का जरूरी सामान शामिल है.

2 किलो आटा, 1 किलो चीनी, 1 किलो नमक, 1 किलो चने, 1 किलो रवा, 1 किलो चने की दाल, 1 किलो उड़द दाल, 1 लीटर सूरजमुखी तेल, 500 ग्राम नारियल तेल, 250 ग्राम चाय, 250 ग्राम दाल, 100 ग्राम मिर्च, 100 ग्राम सरसो, 100 ग्राम हल्दी 100 ग्राम धनिया, 100 ग्राम सौंफ, 2 नहाने की साबुन के साथ राज्य सरकार राशन कार्ड से पहले ही 15 किलो चावल सभी को दे चुकी है.

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा था कि 87 लाख से भी ज्यादा परिवारों को यह किट दी जाएगी. इसमें एक महीने की जरूरत के हिसाब से सामान होगा।

Leave a Comment