गोगोई पर भड़के पूर्व जस्टिस काटजू कहा- मैंने रंजन गोगोई जैसा बेशर्म और अपमानजनक किसी को नहीं देखा अब ये आदमी…

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर पूर्व जज जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने बेहद कड़े शब्दों में ह’मला बोला है। गोगोई के राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर काटजू ने कहा है कि गोगई से बे’शर्म और अ’पमा’नजनक इंसान मैंने अपने करियर में नहीं देखा है। मैं 40 साल के करियर के आधार पर कह सकता हूं कि ये आदमी बेहद घ’टिया है।

बता दें इससे पहले पूर्व जस्टिस मदन बी लोकुर और पूर्व जस्टिस कुरियन जोसेफ ने गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर ह’मला बताया था। कुरियन जोसेफ ने कहा कि पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के राज्यसभा के लिए नामांकन ने न्यायपालिका की स्वतंत्रता में आम आदमी के विश्वास को हिलाकर रख दिया है।

गौरतलब है कि पूर्व जज जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने रंजन गोगोई को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर कहा कि मैं 20 साल तक वकील और 20 तक जज रहा हूं। अपने करियर में मैंने कई अच्छे जजों को भी देखा और कई बुरे जजों से भी वास्ता पड़ा।

उन्होंने कहा की मैं कह सकता हूं कि मैं भारतीय न्यायपालिका में किसी भी न्यायाधीश को इस यौ’न वि’कृत रंजन गोगोई जितना बेशर्म और अपमानजनक इंसान नहीं देखा। शायद ही कोई दो’ष है, जो इस आदमी में ना हो। अब ये दु’ष्ट और धू’र्त भारतीय संसद की शोभा बढ़ाएगा।

इससे पहले रंजन गोगोई के राज्यसभा के लिए मनोनीत किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट में उनके साथी रहे जजों ने भी सवाल उठाए थे। सुप्रीम कोर्ट में गोगोई के समकक्ष रहे सेवानिवृत्त जस्टिस मदन बी लोकुर ने कहा है कि क्या आखिरी किला भी ढह गया है?

वही सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज कुरियन जोसेफ ने कहा कि वे हैरान हैं कि जिस सीजेआई ने कभी न्यायपालिका की निष्पक्षता और आजादी के लिए ऐसा साहस दिखाया था, उन्होंने ही आजादी के सि’द्धांत से समझौता कर लिया। गोगोई ने न्यायपालिका की आजादी पर आम आदमी के यकीन को हिला दिया है।

Leave a Comment