फ़्रांस: इस्लाम पर मैक्रों के बयान से कई खाड़ी देशों में नाराज़गी, बहिष्कार की अपील

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों द्वारा दिये गए इ’स्ला’म विरो#धी बयान पर वि’रो#ध तेज होता जा रहा है. फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद का का’र्टून दिखाने वाले एक शिक्षक के म#र्ड र के बाद राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने जो बयान दिये उससे कई मुस्लिम देशों में गह’री नाराज’गी देखने को मिल रही हैं. इसी बीच अब कई अरब देशों में फ्रांस के सामानों का बहिष्का’र देखने को मिल रहा है. कुवैत, जॉर्डन और क़तर जैसे कई देशों में फ्रांसी राष्ट्रपति का विरो’ध हो रहा है.

दरअसल मैक्रों ने अपनी एक टिप्पणी में क’ट्ट रपं#थी इस्लाम की आलोचना करते हुए शिक्षक की ह#त्या को इस्ला’मि’क आ#तं’क वा’दी ह म’ला करार दिया था. जिसके बाद  कुवैत, जॉर्डन और क़तर में तो कई दुकानों ने अपने जहां से फ़्रांस के सभी सामा न ह’टा दिए गए हैं.

shop

वहीं लीबिया, सीरिया और ग़ज़ा पट्टी में फ़्रांस के ख़िलाफ़ विरो’ध प्रदर्शन देखने को मिल रहे है. वहीं इस पर प्रतिक्रिया देते हुए फ़्रांस के विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि ब हि’ष्का’र की बेबुनिया द बातें अल्पसंख्य’क समुदाय का सिर्फ़ एक क ट्ट र तबका द्वारा ही की जा सकती हैं.

क्या कहा राष्ट्रपति मैक्रों ने?

फ़्रांसी राष्ट्रपति मैक्रों ने पैगंबर मोहम्मद के वि वा’दि’त कार्टून को शिक्षक द्वारा दिखाए जाने का बचाव करते हुए कहा कि एक खास समुदाय की भावनाओं के चलते अभिव्यक्ति की आजादी को ताक पर नहीं रखा जा सकता हैं. उन्होंने शिक्षक की ह#त्या  पर कहा कि यह घट’ना धर्म निरपे क्ष फ्रांस की एकता को कम करने वाली हैं.

Emmanuel Macron

बता दें कि इसी माह की शुरुआत में शिक्षक की ह#त्या से कुछ वक्त पहले ही राष्ट्रपति मैक्रों ने इस्लामिक अल’गा व#वा’द से निपटने के लिए फ्रांस में नए और कड़े कानून बनाने की घोषणा की थी.

इस दौरान उन्होंने कहा था कि ड#र है कि फ़्रांस की क़रीब 60 लाख मुसलमान समाज की मुख्य धा#रा से अलग-थलग पड़ सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने इस्लाम को एक ऐसा धर्म बताया जो सं’क ट में हैं.

वहीं मैक्रों के बयानों की जमकर आलोचना की गई. उनके बयान पर तुर्की और पाकिस्तान से भी प्रतिक्रिया देखने को मिली. दोनों ही देशों ने मैक्रों पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो आ# स्था की आजादी का सम्मान नहीं कर रहे हैं और फ़्रांस की लाखों की तादात वाली मुस्लिम आबादी को हा#शि ए पर ध’केल रहे हैं.

वहीं तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने रविवार को मैक्रों पर पल’टवा र करते हुए मैक्रों को इस्लाम के बारे में उनकी सोच के चलते दिमा’गी इलाज कराने का सुझाव भी दे डाला.