बेहद शर्मनाक: शहीद हुए सैनिकों के लिए आयोजित श्रद्धांजलि सभा में चले ला’त-घूं’से, आपस में भि’ड़े कांग्रेसी

भारत और चीन के बीच लंबे समय से तनाव बना हुआ हैं. इसी बीच 15 जून की रात को भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिं’स’क झ’ड़प हो गई थी जिसमें भारत के 20 जवान श’हीद हो गए. जिसमें से 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर शामिल थे. श’हीद हुए सेना के जवानों को श्र’द्धांजलि देने के लिए राजस्थान के अजमेर में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने एक शो’कसभा का आयोजन किया था.

इसी शोकसभा में शामिल हुए पार्टी के दो कार्यकर्ता आपस में ही भी’ड़ बैठे और बात इतनी बिगड़ गई कि दोनों के बीच ला’त-घूं’से तक चलने लगे. दोनों के बी’च बहस से शुरू हुई यह झ’ड़प इस हद तक पहुंच गई कि एक कार्यकर्ता की नाक से खू’न निकाल आया.

जिसके बाद सभा में मौजूद नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दोनों को बी’च-ब’वाव करके अलग किया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अजमेर जिले में श’हीद स्मारक पर श’हीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए शहर जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से श्र’द्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था.

श्रद्धांजलि सभा के दौरान जब श’हीद स्मारक पर शहर जिलाध्यक्ष विजय जैन के साथ कुछ व’रिष्ठ नेता पुष्पांजलि अर्पित कर रहे थे. उसी दौरान दो कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में ही भी’ड़ गए. बताया जा रहा है कि सोना धनवानी नाम का एक कार्यकर्ता सीढ़ियां चढ़कर श्र’द्धांज’लि देने के लिए स्टेज पर जा रहा था.

इसी दौरान शमसुद्दीन नाम के एक कार्यकर्ता ने उसे रोका लिया. बस फिर क्या इसी बात पर दोनों के बी’च कहा-सु’नी शुरू हो गई और देखते ही देखते दोनों के बीच बा’त मा’र पी’ट तक पहुंच गई. जनसत्ता की खबर के अनुसार दोनों ने एक दूसरे पर जमकर ला’ट घूं’से बरसाए.

इस दौरान दोनों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे के कप’ड़े फा’ड़ डाले और उनके मुं’ह से खू’न तक निकल आया. जिसके बाद अन्य कार्यकर्ताओं और नेताओं ने बी’च-बचाव करके दोनों को शांत कराया.

बता दें कि सोशल मीडिया पर हाथापाई का यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वहीं सोशल मीडिया पर इन कार्यकर्ताओं को जमकर ट्रोल भी किया जा रहा है. इसी बीच एक यूजर ने इस वीडियो पर कॉमेंट करते हुए कहा कि गलवान घाटी भेज दो इन दोनों को, भारतीय आर्मी के काम आ जाएंगे.

वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा कि कौन इस कार्यक्रम का क्रेडिट लेगा इस बात पर एक दूसरे के साथ मा’रपी’ट कर रहे है.  एक अन्य ने कोरोना संक’ट से निपटने के लिए बनाए गए नियमों को याद दिलाते हुए पूछा कि भाईसाब सोशल डिस्टेंस कहा है.