भगवान राम पर भी लटकी नागरिकता की तलवार, नेपाली पीएम के भगवान राम को लेकर दिए विवा’दित बयान पर मचा बबाल

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली द्वारा हिन्दू धर्म के भगवान श्री राम को लेकर दिये गए बयान पर बवा’ल खड़ा हो गया हैं. भारत में इस बयान का तीखी विरोध देखने को मिल रहा है. इसी बीच श्री राम पर दिए बयान को लेकर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भ’ड़क उठे हैं. उन्होंने नेपाली पीएम पर निशाना साधा है और इसे अम’र्या’दित बयान बताते हुए उन्हें मान’सिक दि’वालिया बताया हैं.

केशव प्रसाद मौर्य ने ओली पर निशाना साधते हुए कहा कि शर्मा ओली का यह अमर्यादित बयान उनकी मानसिक दिवालियापन को दर्शाता है. उन्होंने नेपाली पीएम को इतिहास याद दिलाते हुए कहा कि नेपाल भी पहले आर्यावर्त (भारत) का हिस्सा रहा है.

KP Sharma Oli

मंगलवार को किये ट्वीट में एक दोहे का उपयोग करते हुए केशव प्रसाद मौर्या ने लिखा कि

“जाको प्रभु दारुण दुख दीन्हा।
ताके मति पहिले हर लीन्हा।”

उन्होंने आगे लिखा कि मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम जी की जन्मभूमि को लेकर नेपाल के कम्युनिस्ट प्रधानमंत्री श्री केपी शर्मा ओली जी द्वारा दिया गया अमर्यादित बयान उनके मानसिक दिवा’लिया’पन को दर्शाता है.

उन्होंने आगे लिखा कि ओली जी को मालूम होना चाहिए कि नेपाल भी पूर्व में आर्यावर्त (भारत) का हिस्सा रहा है. जय श्री राम. अयोध्या राममंदिर अयोध्या.

आपको बता दें कि, नेपाली पीएम ने काठमांडु में पीएम आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि अयोध्या असल में नेपाल के बीरभूमि जिले के पश्चिम में स्थित थोरी शहर में स्थित हैं. भारत का दावा होता है कि भगवान राम का जन्म वहां हुआ था और उसके लगातार दावे के चलते हम मानने लगे हैं कि देवी सीता का विवाह भारत के राजकुमार राम से हुआ था.

लेकिन सत्य यह है कि अयोध्या बीरभूमि के पास स्थित एक गांव है. इसके साथ ही नेपाल के पीएम ओली ने भारत पर सांस्कृतिक अति’क्रमण करने का आरोप भी लगाया उन्होंने कहा कि भारत ने एक नकली अयोध्या का निर्माण किया है.

साभार- जनता का रिपोर्टर