मध्य प्रदेश: ज़मीनी विवा’द में मुस्लि’म परिवार पर लोगों ने किया था ह’मला, एक की जान गयी

भाजपा मंत्री संजू सिसोदिया के पैतृक गाँव डोबरा की घट'ना, वन भूमी पर जंगलों की अवै'ध कटाई को लेकर पूरे बमौरी क्षेत्र के लोगों में रोष

मध्य प्रदेश/गुना: ज़िले के थाना फतेहगढ़ क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम डोबरा में जुलाई 2020 के महीने में वन भूमी (रेंज) की ज़मीन पर अतिक्रम’ण को लेकर विवा’द हो गया था, जिसमे एक ही मुस्लि’म परिवार के तकरीबन 7 से 8 लोग घाय’ल हो गए थे, जिन्हें गुना के सरकारी ज़िला अस्पता’ल में भरती कराया गया था.

उनमें से एक की हालत काफी नाज़ुक थी तो उसको इला’ज के लिए इंदौर रेफर कर दिया गया था, मुजफ्फर के सर में गहरी चो’ट आई थी, पाँच महीने चले लम्बे इला’ज के बाद आज 13 नवम्बर 2020 को उसने द’म तो’ड़ दिया.

Fatehgadh Forest ki Zameen ko Lekar Jhagdha
बीच में मृ’तक मुजफ्फर खान

राजनीतिक दखल और पुलिस पर लीपा-पोती का आरोप

इस घट’ना में मारे गए मुजफ्फर के भाई करामत से फोन पर की गयी बातचीत से पता चला की अभी तक किसी भी आरो’पी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, करामत बताते हैं कि भील समुदाय को राजनैतिक संरक्षण प्राप्त है और पुलिस भी शुरू से ही इस मामले में लीपा-पोती करने का काम कर रही है.

जानकारी के मुताबिक नेताओं और वन विभाग द्वारा संरक्षण प्राप्त भीलों तथा आदिवासी समुदाय के लोगों द्वारा थाना फतेहगढ़ क्षेत्र समेत पूरे बमौरी क्षेत्र में वनों की बेतहाशा अवै’ध कटाई की जा रही है, जिसको लेकर आए दिन ग्रामीणों के झग’ड़े होते रहते हैं. इसी तरह के कुछ और मामले बीते दिनों में देखने को मिले हैं.

250-300 लोगों की भी’ड़ ने किया था हमला

छानबीन में पता चला है कि इन लोगों पर लगभग 250-300 लोगों की भी’ड़ ने अचान’क चारों तरफ से घेरकर हम’ला कर दिया था. यह लोग पहले तो उन लोगों से हाथ जोड़कर लड़ा’ई न करने की बात करते रहे लेकिन जब जा’न पर बन आई तो इन्होने भी उन लोगों पर पथ’राव किया.

आपको बता दें कि यह आक्रो’शीत भी’ड़ उन लोगों पर लट्ठ, पत्थर, लुहांगी और फर’सों से ह’मला बोली थी. इसके बाद इस भी’ड़ ने बीच फतेहगढ़ कस्बे से जुलूस भी निकाला जिसमें “हिंदुस्तान जिंदाबाद / मुसलमान मु’र्दाबाद” के नारे लगाये गए थे.

सूत्रों से मिली जानकरी के अनुसार फतेहगढ़ वन रेन्ज में अवै’ध कटाई एवम अ’तिक्र’मण बड़े पैमाने पर किया जा रहा है जिसकी सूचना रेन्जर को मिलने के बाद भी रेन्जर के द्वारा सुस्त रवैया अपनाया हुआ है।

फतेहगढ़ समेत पूरे बमौरी विधानसभा क्षेत्र में वन भूमि पर लगातार जंगलों को साफ़ कर अतिक्र’मण किया जा रहा है. वन अधिकारीयों की मिली भगत से हजारों एकड़ जंगल काट कर सपाट खेती की ज़मीन में तब्दील हो चुका है. कई बार क्षेत्र के दूसरे कुछ गाँव से भी ऐसी ही घट’नाओं की ख़बरें आती रहती हैं।

अधिकारीयों दवारा कार्यवाही नही करने से हालात ये हैं कि जगह-जगह सँघ’र्ष की स्थिति बनने लगी है जिससे आने वाले समय में कभी भी एक बड़ी गम्भी’र घट’ना घट सकती है।