PM मोदी के भाषण पर हरभजन सिंह का ट्वीट वायरल, कहा- ग़रूर में इंसान को इंसान नहीं दिखता.. जैसे छत पे चड जाओ तो अपना ही…

किसानों का समर्थन करते हुए दिखे अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह ने ट्वीट कर कहा- किसान अन्नदाता है और उनको वक्त दिया जाना चाहिए.

नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है। किसान लगातार अपनी मांग मंगवाने के लिए धरने प्रदर्शन पर डटे हुए हैं, भूख हड़ताल कर रहे हैं। सरकार और किसानों के बीच की इस लड़ाई में लगातार नई- नई तस्वीरें सामने आ रही हैं। वही किसान आंदोलन को लेकर कई नेता और लोगों द्वारा समय-समय पर ट्वीट किए जा रहे हैं।

अब इसी मामले को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के सुपरस्टार हरभजन सिंह (भज्जी) पूरी तरह आंदोलनकारियों के साथ दिख रहे हैं। भज्जी ने भी एक ट्वीट किया है जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि वे किसानों को सावधान कर रहे हैं। वही इससे पहले भी भज्जी अपनी बेबाक बयानबाजी के चलते कई बार चर्चओं में रहे है।

कृपया किसानों की भी सुनिए: हरभजन सिंह

SINGH

हलाकि हरभजन सिंह ने उनकी इस पोस्ट में किसान आंदोलन या सरकार का जिक्र नहीं किया है। लेकिन उनके इस ट्वीट से लगता है की वो किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए सरकार पर निशाना साध रहे है। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है कि- किसी भी व्यक्ति पर सोच-समझकर भरोसा करना चाहिए क्योंकि नमक भी शक्कर जैसा ही दिखता है।

आपको बता दें देशभर में इस समय किसान आंदोलन को लेकर कई बातें की जा रही हैं। देश के किसान केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन करते दिख रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह ने किसानों को अपना समर्थन देते हुए उनके लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पर आवाज उठाई है।

पंजाब की तरफ से खेलकर भारतीय टीम तक का सफर तय करने वाले होनहार गेंदबाज भज्जी ने कहा कि- ‘किसान अन्नदाता है और उनको वक्त दिया जाना चाहिए। हरभजन सिंह ने अपनी ट्वीट में यह भी लिखा कि- क्या यह वाजिब नहीं होगा कि बिना पुलिस भिड़ंत के क्या हम उनकी बात नहीं सुन सकते हैं? कृपया किसान की भी सुनिए, जय हिंद!

वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर ‘मोंटी पनेसर’ ने भी किसानों हित में बात की है और उनका समर्थन करते हुए अपील की है कि किसानों के हक में काम किया जाना चाहिए। उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए यह विचार व्यक्त किए।

लगता है कि जब तक यह मसला सुलझ नहीं जाता कई नेता जानी-मानी हस्तियों और नागरिकों द्वारा अपनी बातें समय-समय पर रखी जाएंगी। जिसमें कोई किसानों के समर्थन तथा कोई किसान बिल के समर्थन करता हुआ नजर आएगा।