UP: हाथरस कांड से आहत वाल्मीकि समाज ने लिया बड़ा फैसला, 50 परिवारों ने हिन्दू धर्म धर्म छोड़ अपनाया…

दिल्ली से लगे गाजियाबाद में हाल ही में हाथरस में हुई घ’ट’ना से आहत लोग बाल्मीकि समाज के 50 परिवारों के 236 लोगों ने बड़ा फैसला लेते हुए हिन्दू धर्म छोड़ दिया है और धर्मांतरण करके बौ’द्ध धर्म अपना लिया है. मामला गाजियाबाद के करहेड़ा इलाके का बताया जा रहा है. बीती 14 अक्टूबर को इलाके में रहने वाले वाल्मीकि समाज के 236 लोगों ने एक साथ अपना धर्म परिवर्तन कर लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सभी लोगों ने एकजुट होकर बाबा साहब अंबेडकर के परपोते राजरत्न अंबेडकर की मौजूदगी में बौद्ध धर्म की दीक्षा ग्रहण कर ली हैं.

ghaziabad

धर्म परिवर्तन करने वाले इन परिवारों का कहना है कि वो हाथरस मामले से बहुत ज्यादा आह’त हुए है. इसके साथ ही उनका आरोप है कि उन्हें लगातार आर्थिक तं’गी का सामना करना पड़ रहा है लेकिन इसके बाद भी उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं होती है.

उनका आरोप है कि हर जगह हम लोगों की अनदेखी की जा रही है. आपको बता दें कि एक वीडियो भी सामने आया है जो बीती 14 अक्टूबर का है जिसमें राजरत्न आंबेडकर बौ’द्ध धर्म की दीक्षा इन लोगों को देते हुए नजर आ रही है.

इसी बीच इन लोगों ने बौद्ध ध’र्म को अपना है. इसी के साथ उन्हें भारतीय बौद्ध महासभा की तरफ से एक प्रमाण पत्र भी जारी किया गया है.  धर्म प’रिवर्त’न करने वाले लोगों में शामिल बीर सिंह ने कहा कि उनके गांव के 50 परिवारों के 236 लोगों ने एकजुट होकर बौ’द्ध ध’र्म अपना लिया है.

उन्होंने बताया कि इसमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं और इसके लिए किसी भी तरह की कोई भी फीस नहीं ली गई है. बस अब इस धर्म को अपनाने के बाद समाज सेवा जैसे अच्छे काम करने के लिए कहा गया है.

आपको बता दें कि पिछले महीने की 14 तारीख को यूपी के ही हाथरस जिले के बुलगढ़ी गांव में वाल्मीकि समाज की एक बिटिया के साथ कथित तौर पर गैं’ग रे# प के बाद उसकी ह#त्या कर दी गई थी. इस घट’ना के बाद दुनिया भर में आक्रो’श देखने को मिला.

इस द’रिंद’गी के विरोध में वाल्मी’कि समाज ने जगह जगह प्रदर्शन करके अपना विरोध भी जाहिर किया था. फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है, इस मामले में सीबीआई जांच कर रही है और चारों आरोपी अलीगढ़ जेल में बंद हैं.

साभार- न्यूज़18