हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय के साथ हुई बर्बरता पर बीजेपी और मीडिया की चुप्पी, पत्रकार बोली- क्या हिमाचल की गाय हमारी माता नहीं है

केरल में पिछले दिनों एक गर्भवती हथिनी की निर्दयता से ह’त्या कर दी गई हैं. केरल के मलाप्पुरम में हथिनी को वि’स्फो’टकों से भरा अनानास खिला देने के बाद उसकी मौ’त हो गई थी. यह मामला अभी ठंडा भी नही हुआ था कि अब एक और मामला सामने आ गया हैं. इन्सान से शैतान बन चुके एक शख्स ने इस बार गाय को निशाना बनाया हैं. हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में एक गाय के साथ बर्बरता का मामला प्रकाश में आया हैं.

यहां एक शख़्स ने गाय को खाने के सामान के साथ वि’स्फो’टक पदार्थ खिला दिया जिसके चलते उसका पूरा जबड़ा बुरी तरह ज़ख्मी हो गया हैं. इस घटना को अंजाम देने वाला आरोपी पुलिस के ह’त्थे चढ़ गया हैं. पुलिस ने विस्फो’टक खिलाने के आरोप में नंदलाल नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया हैं.

इस घटना पर बिलासपुर के पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने कहा कि आरोपी नंदलाल के खिलाफ आईपीसी और प्रिवेंशन ऑफ क्रूअल्टी टू एनिमल्स (सेक्शन-11) के तहत मामला दर्ज कर गिरफ़्तार किया गया हैं. आरोपी को जल्द ही अदालत में पेश किया जाएगा.

वहीं गाय के मालिक गुरदयाल सिंह ने बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाले नंदलाल ने उसकी गर्भवती गाय को खाने के सामान के साथ वि’स्फोट’क पदार्थ दे दिया था जिसके कारण उसका जबड़ा बुरी तरह से ज़ख्मी हो गया हैं.

आपको बता दें कि अभी कुछ ही दिन पहले ऐसी ही घटना केरल के मलाप्पुरम में देखने को मिली थी. जब गांव के दो लोगों ने एक गर्भवती हथिनी को वि’स्फोट’कों से भरा हुआ अनानास खिला दिया था जिससे उसका जबड़ा बुरी तरह जख्मी हो गया था. इसके बाद से ही वह कुछ खा नहीं पा रही थी.

तीन दिन तक नदी में भूखे खड़े रहने के बाद उनकी दर्दनाक मौ’त हो गई थी. इस घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया समेत पुरे देश भर में रोष देखने को मिला था.

इस घटना पर मीडिया से लेकर बीजेपी के बड़े नेताओं तक ने प्रतिक्रिया देते हुए केरल सरकार पर गुस्सा जाहिर करते हुए उन्हें कटघरे में खड़ा किया था और आरोपियों को सख्त कार्रवाई की डिमांड रखी थी.

लेकिन इसके उल्ट हिमाचल में गाय के साथ हुई उसी तरह की बर्बर घटना पर मीडिया और बीजेपी दोनों ने ही चुप्पी साध रखी हैं. अब कोई भी हिमाचल की बीजेपी सरकार को कटघरें में खड़ा करने की हिम्मत नहीं दिखा पा रहा हैं. जिसके बाद अब मीडिया पर बीजेपी पर सवाल उठने लगे हैं.

वहीं सोशल मीडिया पर हिमाचल प्रदेश में गर्भवती गाय के साथ  हुई इस दर्दनाक घटना पर इंसाफ की मांग की जा रही हैं. ट्वीटर पर गाय को इंसाफ दिलाने के लिए जस्टिस फॉर हिमाचल काउ हैशटैग चलाया जा रहा हैं. इसी बीच पत्रकार साक्षी जोशी ने अप्रत्यक्ष रूप से दिखावा करने वालों पर कटाक्ष करते हुए लिखा कि क्या हिमाचल प्रदेश की गाय हमारी माता नहीं हैं.