हाथरस कांड: दं#गा भड़काने की साजिश रच रहे चार युवक गिरफ्तार, भ'ड़का'ऊ साहित्य लेकर हाथरस जा रहे थे

हाथरस कांड: दं#गा भड़काने की साजिश रच रहे चार युवक गिरफ्तार, भ’ड़का’ऊ साहित्य लेकर हाथरस जा रहे थे

यूपी के हाथरस कां’ड के पीछे जातीय हिं’सा की साजिश का बड़ा खुलासा हुआ है. इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने मथुरा जिले से चार युवाओं को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि यह युवक हाथरस मामले के बहाने पुरे राज्य में हिं#सा फ़ैलाने की साजिश रच रहे थे. यूपी के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि सोमवार को दिल्ली से हाथरस जा रहे चार युवकों को पक’ड़ा गया है.

उन्होंने बताया कि इनकी गिरफ्तारी मथुरा में की गई है और इन लोगों का संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से हैं. फ़िलहाल इस मामले में पुलिस छानबीन कर रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यूपी पुलिस को खुफिया एजेंसियों से हाथरस मामले के पीछे जातीय हिं#सा की सा’जिश होने का इनपुट मिला है.

इसी को देखते हुए यूपी सरकार ने पुरे राज्य में पुलिस को अलर्ट पर रखा है. मथुरा जिले में भी अस्थिरता फैलाने वालों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है. यमुना एक्सप्रेसवे के मांट टोल प्लाजा पर सोमवार को चार सं’दि’ग्ध युवकों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है.

इनमें एक केरल का रहने वाला बताया जा रहा है, यह चरों युवक दिल्ली से हाथरस के लिए जा रहे थे. गिरफ्तार किये गए आरोपियों में नगला थाना रतनपुरी जिला मुजफ्फरनगर का रहने वाला अतीक उर रहमान पुत्र रौनक अली.

बेंगारा थाना मल्लपुरम केरल का रहने वाले सिद्दीकी पुत्र मोहम्मद चैरूर, थाना जरवल जिला बहराइच का निवासी मसूद अहमद और घेर फतेह खान थाना कोतवाली, जिला रामपुर के रहने वाले आलम पुत्र लईक पहलवान शामिल हैं.

एसपी देहात श्रीश चंद्र के मुताबिक इन चारों युवकों को सं’दि’ग्ध गतिविधियां लगने के बाद गिरफ्तार किया गया है. यह लोग कार के जरिए हाथरस जा रहे थे.

पुलिस ने बताया कि इनके पास से मोबाइल, लैपटॉप एवं सं’दि’ग्ध साहित्य शांति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाला बरामद किया गया है. पूछताछ में सामने आया है कि इनका संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पीएफआई एवं उसके सहसंगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) से हैं.

साभार- अमर उजाला