जब म’नचले ने महिला पुलिसकर्मी कहा- “इतनी पतली हो, रा’यफल कैसे संभालती हो” उसके बाद जो हुआ…

बरेली: मनचले ने महिला सिपाही से कहा कि, ‘तुम इतनी पतली हो, रायफल कैसे संभालती हो’। इस टिप्पणी के बाद महिला सिपाही ने मनचले को पकड़ लिया और जमकर उसकी पि'टाई कर दी।

अगर बात महिलाओं के साथ छे’ड़ छा’ड़ की हो तो उत्तर प्रदेश का नाम सबसे पहले आता है। उत्तर प्रदेश राज्य अक्सर महिलाओं के साथ होने वाले दु’ष्कर्म ह#त्या और दु’र्व्यवहा’र के कारण भी सुर्खियों में रहता है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यूपी पुलिस को दी गई खुली छू’ट के बाद भी यह मामले रुक नहीं पा रहे हैं।

हाल ही में एक ही ऐसा मामला उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से सामने आया जिससे यही पता चलता है कि उत्तर प्रदेश में मनचलों के हौसले इतने बुलंद है की वह वर्दी पहने एक महिला पुलिस को छे’ड़’ने से भी बाज नहीं आते तो फिर सोचिए उत्तर प्रदेश में साधारण महिलाओं का क्या हाल होता होगा।

महिला सिपाही ने थाने में सूचित करके फ़ोर्स बुलवाई

बता दें यूपी के बरेली के फरीदपुर थाना क्षेत्र में एक मनचला गली से गुजर रही महिला पुलिसकर्मी को छे’ड़ते हुए कहता है है कि “तुम इतनी पतली हो रा’इफल कैसे संभालती हो” इतनी टिप्पणी सुनते ही महिला पुलिसकर्मी ने मनचले को ध’र लिया और जमकर पि’टा’ई की साथ ही महिला पुलिसकर्मी ने थाने में फोन कर और पुलिसकर्मी बुला लिया।

लेकिन इतने में ही शातिर म’नचले ने महिला पुलिसकर्मी को ध’क्का देकर भा’गने में कामयाबी हासिल की लेकिन इसमें उसका मोबाइल वहीं पर गिर गया ‌बता दें फरीदपुर के साहूकारा मोहल्ले में आती जाती औरतों पर आ’प’त्तिज’नक टिप्पणियां करने की शिकायत पुलिस को मिली भी थी।

ऐसे ही मामलों को सामने लाने के लिए पुलिस ने मिशन शक्ति अभियान चलाया था। इस अभियान के तहत महिला पुलिसकर्मी शिकायत आने वाली जगह पर जाती हैं और उनकी ध’रप’कड़ करती हैं।

ऐसे ही एक मामले के तहत वह महिला पुलिसकर्मी फरीदपुर थाना क्षेत्र में गई थी जहां पर यह मामला सामने आया है। ऐसे में आप यह अंदाजा तो लगा ही सकते हैं कि जब वर्दी पहने महिला पुलिसकर्मी सुरक्षित नहीं है तो आम महिलाओं और बच्चियों का प्रदेश में जीना किस कदर रहता होगा।

वहीं इस मामले को लेकर यूपी पुलिस ने कहा है कि ऐसे अभियान आगे भी जारी रहेंगे और महिला पुलिसकर्मी के साथ दु’र्व्य’वहार करने वाला वह मनचला भी जल्द ही कानून के शिकंजे में होगा।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।