CAB के खिलाफ पश्चिम बंगाल में हिं'सा ने लिया खतरना'क रूप, 5 ट्रेन जलकर स्वाहा... लोगों ने

CAB के खिलाफ पश्चिम बंगाल में हिं’सा ने लिया खतरना’क रूप, 5 ट्रेन जलकर स्वाहा… लोगों ने

जब से गृहमंत्री अमित शाह ने ‘नागरिकता संशोधन बिल’ को पेश किया है, उसके बाद से ही कई जगह विरोध और प्रदर्शन होना चालू हो चुके थे. फिर इसके दोनों सदनों विधानसभा और राज्यसभा में पास होने के बाद से यह प्रदर्शन और भी उग्र होने लगे. देश के कई राज्यों में सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए इंटरनेट सेवाएं भी 48 घंटे के लिए बंद कर दी गयीं थीं. इसके बावजूद भी कई जगह पर हालात बेहद ख़राब हैं.

हावड़ा में भी प्रदर्शनकारियों ने, रेलवे स्टेशन का एक हिस्सा, आग के हवाले कर दिया है. वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों के साथ भी मारपी’ट की गई, और आसाम में यह हिंस’क प्रदर्शन अब जानलेवा बन गया है. यहां मुर्शिदाबाद में प्रदर्शनकारियों ने लाल गोटा स्टेशन पर खड़ी 5 खाली ट्रेनों को भी आग के हवाले कर दिया.

West Bengal IS Out of control

इस जगह पर प्रदर्शनकारी, जगह जगह पर सड़क जाम किए हुए हैं, अधिकतर जगह यातायात चाहे वह रेलवे हो या हवाई हो या फिर सड़क मार्ग सब कुछ बाधित पड़ा हुआ है. मुर्शिदाबाद के आसपास के इलाके और उसके उत्तरी 24 परगना जिले में भी प्रदर्शन हिंस’क हो गए हैं.

इसके अलावा, हावड़ा ग्रामीण अंचल से भी कुछ घटित होने की खबरें आ रही हैं, बताया जा रहा है कि हजारों लोगों की भी’ड़ ने स्टेशन पर धावा बोल दिया. चारों तरफ के रास्ते जाम कर दिए, यहां तक की कुछ दुकानों मैं भी इन लोगों ने आग लगाई है.

दोपहर के समय यह सभी लोग, स्टेशन परिसर में अंदर घुस गए. वहां पर भी इन लोगों द्वारा टिकट काउंटर को भी आग के हवाले कर दिया गया. जब यह सब होता देख आरपीएफ के जवानों ने और स्टेशन के कर्मचारियों ने इन लोगों को रोकने की कोशिश की, तब यह और भी ज्यादा उग्र होकर तोड़-फोड़ करने लगे.

PAshchim Bengal ki jankari

बताया जाता है कि 15 बसों को भी आग के हवाले कर दिया गया है, जिसमें सरकारी और निजी दोनों तरह की बसें हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रशासन को स’ख्त निर्देश दिए हैं. हिंस’क प्रदर्शन और तोड़फोड़ करने वालों को पर कड़ी कार्रवाई की जाए.

हालांकि नागरिकता संशोधन बिल 2019 के विरो’ध में प्रदर्शन और भी राज्यों में चल रहे हैं, लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल में देखने को मिला है. वहीँ असं, मणिपुर और मेघालय से भी बुरी खबरें आ रही हैं.

Leave a Comment