छह नौकरियां छोड़ बनी थीं आईपीएस, बड़े भाजपा नेता से बह’स के बाद जानने लगे लोग

देश सेवा के लिए आईएएस और आईपीएस बनना हर किसी का सपना होता है पर सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करने के लिए कठो’र मेहनत की जरूरत होती है यह भारत की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक हैं ऐसी एक आईपीएस संगीता कालिया उनके आईपीएस बनने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है.

संगीता का जन्म हरियाणा के भिवानी में हुआ था. संगीता के पिता भी पुलिस विभाग में कारपेंटर की नौकरी करते थे पिता का सपना था कि संगीता एक बड़ी ऑफिसर बने इसके लिए संगीता को बड़े अच्छे से पढ़ाया था संगीता की शुरुआती पढ़ाई भिवानी में ही हुई थी.

पेंटर थे पिता, बेटी ने आईपीएस ऑफिसर बन कर पिता का अधूरा सपना पूरा किया

Sangeeta IPS

इसके बाद संगीता ने देश के प्रतिष्ठित अशोका यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री हासिल की इसके बाद संगीता ने पिता के सपने को पूरा करने के लिए जी तो’ड़ मेहनत की और आईएएस की परीक्षा पास की.

संगीता बताती हैं कि आईपीएस ऑफिसर बनने की प्रेरणा, उनको 90 के दशक में दूरदर्शन चैनल पर आने वाले उड़ान नामक सीरियल से मिली.

संगीता ने यूपीएससी की परीक्षा में तीसरे प्रयास में सफलता हासिल की इससे पहले के दो प्रयासों में वह नाकाम रही थी हालांकि दूसरे प्रयास में उनको रेलवे डिपार्टमेंट मिला था जिसमें संगीता ने ज्वाइन नहीं किया था और आखिरकार तीसरे प्रयास में उन्होंने सफलता हासिल की.

संगीता के बारे में बताया जाता है की इन्होने छह नौकरियां छोड़ कर आईपीएस की पोस्ट पर काम करने का मन बनाया.

बता दे जब 2010 में संगीता ने हरियाणा पुलिस में आईपीएस अधिकारी के रूप में जोड़ें उसी साल उनके पिता फतेहाबाद पुलिस से रिटायर हुए थे कुछ समय बात जब भी संगीता पुलिस विभागों के एक सम्मेलन में शामिल हुई तो पिता की बनाई हुई दीवार को देखकर भावुक हो गई.

अभी क्यों है सुर्खियों में

संगीता कालिया भी बीजेपी के नेता अनिल विज के साथ हुई बह’स को लेकर चर्चा में हैं. बता दे संगीता कालिया अपने लिए गए कठो’र निर्णय के लिए जानी जाती हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, संगीता कालिया ने साल 2018 में स्वास्थ्य मंत्री रहे अनिल विज से जवाब तालाब कर लिया था, जिसकी वजह से ये मीडिया में चर्चा का विषय बनी थीं.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।