जामिया में दिल्ली पुलिस की तो’ड़फो’ड़ के खिलाफ जामिया प्रशासन ने लिया एक्शन, भेजा 2.66 करोड़ का बिल

नई दिल्लीः जामिया विश्वविद्यालय ने कैंपस परिसर में पुलिस की बर्बरता और कार्रवाई के दौरान हुए नुकसान को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) को 2.66 करोड़ का बिल भेजा है। भेजे गए बिल के मुताबिक, जामिया मिलिया इस्लामिया में 15 दिसंबर, 2019 को परिसर के अंदर दिल्ली पुलिस घुसी थी और वहां की संपत्ति का नुकसान पहुंचाया था।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, जामिया की ओर से एचआरडी मंत्रालय को सौंपे गए इस बिल में 15 दिसंबर को कैंपस के भीतर पुलिस की बर्बर कार्रवाई के दौरान विश्वविद्यालय की 2.66 करोड़ रुपये की संपत्ति नष्ट होने का हवाला दिया गया है, जिसमें 25 सीसीटीवी कैमरों के नुकसान को भी शामिल किया गया है।

आपको बता दें इन 25 सीसीटीवी कैमरों की कीमत 4.75 लाख है। बीते कुछ दिनों में जामिया के सीसीटीवी में कैप्चर हुए कई वीडियो क्लिप्स वायरल हुए हैं, जिसमें पुलिस को छात्रों पर ला’ठीचा’र्ज करते कैंपस की संपत्ति को नष्ट करते देखा जा सकता है।

गौरतलब है कि बीते दिनों जामिया में पुलिस की बर्बरता से जुड़ी सीसीटीवी कई फुटेज से सामने आए। साथ ही वीडियो में विश्वविद्यालय की संपत्ति को नुकसान होता हुआ भी दिख रहा है।

इन वीडियो में दिख रहा है कि लाइब्रेरी में लगे सीसीटीवी कैमरों पर भी हाथ से मा’रा जा रहा है। हालांकि पुलिस ने इस सभी वीडियो पर सफाई दते हुए कहा कि कुछ वीडियो एडिट किए गए हैं और वे अभी भी अपनी प्रामाणिकता को सुनिश्चित कर रहे हैं।

वही विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने बताया था कि पुलिस की कार्रवाई से लगभग 2.5 करोड़ रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है और आगे भी इसका आकलन किया जाएगा। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान लाइब्रेरी में हुआ है।

यहा के कांच के शीशे टूट गए थे। उन्होंने आगे कहा था कि क्षतिग्रस्त हुई कुछ अन्य चीजों में सीसीटीवी कैमरे और ट्यूबलाइट शामिल हैं, लेकिन शुक्र है कि कोई भी किताब या पांडुलिपियों को हाथ नहीं लगाया गया।

आपको बता दें कि नागरिकता कानून के विरोध में कई दिनों से छात्र शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। वहीं 15 दिसंबर की रात को जामिया में हिं’सा भ’ड़क गई थी। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने अ’राजक त’त्वों के जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय में घुसे होने के संदेह पर दिल्ली पुलिस जामिया विश्वविद्यालय में दाखिल हुई थी।

वही छात्रों का आरोप है कि पुलिस ने लाइब्रेरी में घुसकर तो’ड़फो’ड़ की और छात्रों को बु’री तरह से पी’टा। छात्रों के मुताबिक, इस दौरान दिल्ली पुलिस ने लाइब्रेरी में आं’सू गै’स के गो’ले भी फें’के। छात्रों के मुताबिक पुलिस ने परिसर की ना’केबं’दी कर दी थी और घायल छात्रों को इलाज कराने से रोका था।

Leave a Comment