अपने ही गढ़ में ज्योतिरादित्य सिंधिया को नहीं मिली जगह, उपचुनाव से पहले अटकलें तेज

दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती बीजेपी के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बार फिर से सुर्खियों में आ गए हैं. सिंधिया और उनकी माँ कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे इसके बाद से ही वह हॉस्पिटल में इलाज करा रहे हैं. इसी बीच रजनीतिक गलियारों में सिंधिया के बीजेपी में संतुष्टि को लेकर कई अटकलें शुरू हो गई हैं. दरअसल ग्वालियर में लगे बीजेपी के बैनरों और पोस्टरों से सिंधिया पूरी तरफ गायब नजर आए.

सिंधिया के अपने ही गढ़ में पोस्टर पर उनकी अनुपस्थिति कई तरह की अटकलों को जन्म दे रही हैं. सिंधिया कुछ 2-3 महीने पहले ही मध्य प्रदेश में मचे राजनीतिक घमासान के बीच कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए थे. जिसके चलते सूबे में कांग्रेस की सरकार गिर गई थी.

पिछले कुछ दिनों से बीजेपी और सिंधिया के बीच अनबन की खबरें रफ्तार पकड़ रही हैं. अभी हाल ही में ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्वीटर प्रोफाइल से बीजेपी शब्द हटा लेने को लेकर सोशल मीडिया पर खूब बहस हुई थी.

हालांकि सिंधिया ने इन खबरों को सिरे से नकारते हुए कहा था कि उन्होंने अपनी प्रोफाइल में कभी बीजेपी शब्द लिखा ही नहीं. इसके बाद अब सिंधिया के गृह क्षेत्र ग्वालियर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और सांसद विवेक नारायण शेजवलकर के जन्मदिन के अवसर पर लगाए गए पोस्टरों में सिंधिया की तस्वीर गायब रही.

न्यूज़ एजेंसी पत्रिका की रिपोर्ट्स के अनुसार बीजेपी के पोस्टरों में सिंधिया को जगह नहीं दी गई जबकि इसमें बीजेपी के अन्य सभी दिग्गज नेता नजर आए. वहीं भोपाल में भी कुछ पोस्टर बीजेपी ने लगाए थे लेकिन इनमें भी सिंधिया नारद ही रहे.

बीजेपी नेता और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का जन्म दिवस 12 जून शुक्रवार को हैं. इस मौके पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ग्वालियर क्षेत्र में कई जगहों पर पोस्टर लगाए हैं. तोमर इस क्षेत्र के सबसे प्रभावशाली बीजेपी रहे हैं. इन पोस्टरों में बीजेपी के कई बड़े और क्षेत्र के लोकल नेता भी नजर आए.

इसके बाद से ही सिंधिया समर्थकों में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा हैं साथ ही चर्चा है कि सिंधिया बीजेपी में संतुष्ट नहीं है और अब कोई बड़ा फैसला भी ले सकते हैं. वहीं मध्यप्रदेश में 24 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं.

इनमें से ज्यादातर सीटें सिंधिया के प्रभाव वाली हैं ऐसे में सिंधिया का हर कदम सूबे की राजनीतिक भविष्य के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा. इन दिनों सिंधिया और उनकी मां माधवी राजे सिंधिया कोरोना सं’क्रमि’त से जूझ रहे हैं और दिल्ली में अपना इलाज करा रहे हैं. वहीं उनके पुराने लोकसभा क्षेत्र गुना के उनके समर्थक और बीजेपी नेता उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं.