VIDEO: डॉ. कफिल केस मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट में कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के चलते आज सुनवाई….

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भड़’काऊ भाषण देने के आरोपी डॉ. कफील खान पर लगाई गई एनएसए मामले में आज यानि 15 जुलाई को इलाहाबाद हाई कोर्ट में सुनवाई होने वाली थी जो अब टल गई हैं. आपको बता दें कि कफील खान काफी समय से जेल में बंद हैं. उन्हें 29 जनवरी को यूपी एसटीएफ ने मुंबई से गिरफ्तार किया था. इसके बाद से ही वो जेल में बंद हैं, हालांकि कफील खान को 10 फरवरी को सीजेएम कोर्ट से जमानत मिल गई थी.

लेकिन तीन दिन बाद भी उन्हें रिहा नहीं किया गया. इसके उल्ट प्रशासन ने कफील पर रासुका की कार्रवाई कर दी. जिसे लखनऊ एडवाइजरी बोर्ड के डीएम और एसएसपी ने प्रशासन का पक्ष सुनने के बाद कफील पर एनएसए की कार्रवाई को सही ठहराते हुए उन्हें जेल भेज दिया था.

इसी के बाद अब यह मामला हाई कोर्ट पहुंच गया है. डॉक्टर कफील के अधिवक्ता इरफान गाजी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में सरकार को अपना पक्ष रखने के लिए पहले 8 जुलाई की तारीख दी गई है लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब नहीं मिला तब इस मामले की सुनवाई के लिए 15 जुलाई तय हुई थी.

लेकिन दुर्भाग्यवश इस मामले में आज भी सुनवाई नहीं हो सकी. विनय दुबे नाम के एक सामाजिक कार्यकर्त्ता ने बताया कि इलाहाबाद हाई कोर्ट में कुछ कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के चलते आज सुनवाई नहीं हो सकी. उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही इस मामले की तारीख मिल सकती हैं.

आपको बता दें एएमयू में नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर 15 दिसंबर को प्रदर्शन के दौरान हुए बवा’ल के बाद गोरखपुर मेडिकल कॉलेज से डॉ. कफील खान छात्रों का समर्थन करने के लिए यूनिवसिर्टी पहुंचे थे. आरोप है कि इसी दौरान विवि के बाब ए सैयद गेट पर आयोजित एक सभा के दौरान उन्होंने छात्रों को भ’डकाने का प्रयास कियाा था.

Exactly why is #DrKafeelKhan being held? For being a Muslim? Or for being a dissenter? In both cases… this is sheer injustice!!!! #FreeDrKafeelKhan #FreeAllPoliticalprisoners

आरोपों के अनुसार खान ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत अन्य नेताओं के खिलाफ आ’प’त्तिज’नक टिप्पणी भी की थी. वहीं इस मामले को लेकर अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने ट्वीट करके पूछा कि डॉ. कफील खान की गिरफ्तारी मुसलमान होने के चलते हुई या फिर विरोधी होने के चलते?

स्वरा भास्कर ने अपने ट्वीट में लिखा कि असल में डॉक्टर कफील खान को क्यों पकड़ा गया हैं? मुस्लिम होने की वजह से या फिर विरोधी होने के चलते? इन दोनों ही मामलों में ये सरासर अन्याय है.