Republic TV का डिस्ट्रीब्यूटर हैड गिरफ़्तार, आतं’कि’यों जैसे काले कपडे से चेहरा ढँक कर ले गई पुलिस

TRP Scam: मुंबई पुलिस ने मंगलवार को फर्जी टीआरपी मामले में रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के डिस्ट्रीब्यूशन हेड घनश्याम सिंह को किया गिरफ्तार

मुंबई पुलिस फेक टीआरपी के मामले को लेकर लगातार जांच पड़ताल में जुटी हुई है. इसी कड़ी में मुंबई पुलिस ने मंगलवार को रिपब्लिक टीवी के वितरण प्रमुख घनश्याम सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि सिंह को कथित फर्जी टीआरपी (टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट) मामले में अरे’स्ट किया गया है. यह जानकारी मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारी द्वारा दी गई हैं.

अधिकारी के अनुसार सिंह रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के सहायक उपाध्यक्ष (AVP) भी हैं, सुबह के करीब सात बजकर 40 मिनट पर उन्हें उनके घर से मुंबई पुलिस की एक टीम ने गिरफ्तार किया है.

republic bharat ghayansyam singh

अधिकारीयों के मुताबिक इस मामले में अब तक सिंह समेत 12 लोगों को अपराध शाखा के अपराध आसूचना प्रकोष्ठ (सीआईयू) द्वारा गिरफ्तार किया जा चूका है. अधिकारी के अनुसार इससे पहले सिंह से सीआईयू ने कई दौर की पूछताछ की थी.

वहीं रिपब्लिक टीवी ने घनश्याम सिंह की गिरफ्तारी पर नाराजगी जाहिर की है. चैनल ने ट्वीट करके उनकी गिरफ्तारी पर सवाल उठाए है. चैनल ने अपने ट्वीट में कहा है कि उनके AVP को मुंबई कोर्ट में काले कपड़े से चेहरा ढंक कर पेश किया गया है.

चैनल ने आरोप लगाते हुए कहा है कि मुंबई पुलिस द्वारा सिंह के साथ आतं;कियों जैसा बर्ताव किया जा रहा है. चैनल ने आरोप लगाया कि काफी दिनों से कथित फेक टीआरपी मामले को लेकर घनश्याम से क्राइम ब्रांच यूनिट ने 30-40 घंटे से भी ज्यादा वक्त तक पूछताछ की है.

सिंह पूरी तरह से जांच में सहयोग कर रहे है. लेकिन इसके बाद भी मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. आपको बता दें कि इससे पहले रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी को भी गिरफ्तार किया जा चूका है.

अर्नब को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेजा दिया है. अर्नब की गिरफ्तारी का बीजेपी ने खुलकर विरो’ध किया है. इतना ही नहीं बीजेपी विधायक राम कदम ने अर्नब की रिहाई के लिए महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से बात करने और पदयात्रा निकालने तक की बात कहीं हैं.

साभार- जनसत्ता