VIDEO: शिवराज सिंह चौहान का कथित ऑडियो वायरल, कहा- कमलनाथ सरकार गिराने का केंद्र से मिला था आदेश

मध्यप्रदेश में हाल ही में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिर गई थी. इसके बाद से ही कांग्रेस सरकार गिराने के पीछे बीजेपी नेताओं का हाथ बताया जाता रहा हैं. लेकिन अब इसके सबूत भी सामने आने लगे हैं. इस समय सोशल मीडिया पर मौजूदा सीएम शिवराज सिंह चौहान का एक ऑडियो क्लिप वायरल हो रहा हैं. जिसमें वह कथित तौर पर कह रहे है कि एमपी में कांग्रेस सरकार बीजेपी के केंद्रीय नेताओं द्वारा गिराई गई थी.

मध्यप्रदेश में यह ऑडियो तेजी से वायरल हो रहा हैं. 24वायरलपेज डॉट कॉम किसी भी तरह से वायरल ऑडियो क्लिप की पुष्टि नहीं करता हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस क्लिप में सीएम शिवराज को कथित तौर पर कहते हुए सुना जा रहा है कि केंदीय नेतृत्व ने तय किया है कि सरकार गिरनी चाहिए, नहीं तो ये सबकुछ बर्बाद कर देगी.

मुझे बताओं कि क्या बिना ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी भाई के सरकार गिर सकती थी? कोई तरीका नहीं था. खबरों के अनुसार यह ऑडियो सीएम शिवराज इंदौर के सांवेर विधानसभा क्षेत्र के पार्टी कार्यकर्ताओं को जब संबोधित कर रहे थे उसी समय का हैं. बता दें कि उन्होंने बीते मंगलवार को यह दौरा किया था.

वहीं ऑडियो क्लिप में सीएम ने जिस तुलसी सिलावट का नाम लिया हैं वो ज्योतिरादित्य सिंधिया के वफादार और कांग्रेस के पूर्व मंत्री रह चुके हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया लंबे समय से कांग्रेस में थे, उनके पिता माधवराव सिंधिया पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के बेहद करीबी थी.

लेकिन फिर सिंधिया ने अचानक से कांग्रेस पार्टी छोड़ दी. सिंधिया के साथ उनके करीबी विधायकों ने भी कांग्रेस पार्टी छोड़ दी जिसने तुलसी सिलावटी भी शामिल थे. 19 सालों तक पार्टी में रहने के बाद सिंधिया ने अपने समर्थक विधायकों के साथ कांग्रेस छोड़ दी और इसके साथ ही कमलनाथ सरकार गिर गई.

वहीं वायरल हो रहे कथित ऑडियो क्लिप को लेकर कांग्रेस ने भी तीखी प्रतिक्रियां देना शुरू कर दी हैं. कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि बीजेपी शुरू से ही कांग्रेस द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को नकार रही थी लेकिन अब खुद सीएम शिवराज सिंह ने इन आरोपों की पुष्टि कर दी हैं कि बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व भी इस साजिश और षड्यंत्र का हिस्सा था.

उन्होंने कहा कि शिवराज के इस कबूलनामे के बाद साफ है कि बीजेपी ने साजिश के जरिए जानबूझकर कांग्रेस की सरकार को गिराया था. कमलनाथ सरकार गिराने में सिंधिया की मदद इसलिए ली गई क्योंकि उनके बिना सरकार नहीं गिराई जा सकती थी. किसी को भी कांग्रेस में कोई असंतोष नहीं था यह सब सिर्फ साजिश हैं.