देश के अमन और भाईचारे में ज़हर घोलने वाली कंगना रनौत का ट्विटर अकॉउंट सस्पेंड

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है. ट्विटर ने बताया है कि उन्होंने इस प्लेटफॉर्म के नियमों का उल्लंघन किया है. बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव का परिणाम आने के बाद इस अभिनेत्री ने कुछ विवादित ट्वीट्स किए थे. इसे लेकर उनके ऊपर केस भी दर्ज हुआ है.

विवादित ट्वीट के बाद उनके ऊपर केस भी दर्ज हुआ है. कोलकाता पुलिस ने कंगना रनौत के खिलाफ पश्चिम बंगाल के लोगों की भावनाएं आहत करने के आरोप में शिकायत दर्ज की है. एडवोकेट सुमीत चौधरी ने ईमेल के जरिए कोलकाता पुलिस कमिश्नर सौमेन मित्रा को शिकायत भेजी थी.

बंगाल के चुनावी नतीजों के दिन भी हिंदू-मुस्लिम एंगल वाला ट्वीट किया था

बंगाल में भाजपा की करारी हार से बौखलाई कंगना रनौत ने नतीजों के दिन भी हिंदू-मुस्लिम एंगल वाला विवादित ट्वीट किया था, जिसके बाद देश भर के समझदार लोगों ने कंगना को खूब बुरा भला कहा. कई लोगों ने सलाह भी दी थी की उन्हें अब ये अपनी नफरत फैलाने वाली दुकान बंद कर देनी चाहिए.

Kangna Ranaut Twitter account

अपने मेल में उन्होंने कंगना रनौत के ट्वीट के तीन लिंक्स भी भेजे हैं. इसमें आरोप लगाया गया है कि उन्होंने बंगाल के लोगों की भावनाओं को आहत और उन्हें अपमानित भी किया है.

पश्चिम बंगाल के चुनाव के बाद कंगना रनौत ने अपने एक ट्वीट में लिखा था, ‘पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशी और रोहिंग्या बड़ी संख्या में हैं. इससे साफ नजर आता है कि हिंदू वहीं बहुमत में नहीं हैं, और डेटा के अनुसार, बंगाली मुस्लिम बेहद गरीब और वंचित हैं. अच्छा है दूसरा कश्मीर बनने जा रहा है.

क्या लिखा था कंगना रनौत ने ट्विटर पर

कंगना ने अपने ट्वीट में लिखा है, मैं गलत थी, वह रावण नहीं है। वह तो सबसे अच्छा राजा था दुनिया में सबसे अच्छा देश बनाया, महान ऐडमिनिस्ट्रेटर था, विद्वान था और वीणा बजाने वाला और अपनी प्रजा का राजा था, वह तो खू’न की प्या’सी राक्षसी ताड़’का है। जिन लोगों ने उनके लिए वोट किया, खू’न से तुम्हारे हाथ भी सने हैं.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।