VIDEO: केदारनाथ मंदिर पर ‘भगवान को बेचने’ के आरोप लगाने वाली लड़की के साथ क्या हुआ? वीडियो हुआ था वायरल

मशहूर मॉडल और यूट्यूबर रिवा मावी ने हाल ही में अपने यूट्यूब एकाउंट से एक वीडियो अपलोड किया था जिसे लेकर अब विवाद खड़ा हो चूका हैं. विवाद इतना बढ़ चूका है कि रिया इससे मुश्किलों में फंस गई हैं. दरअसल रिया को जा’न से मा’रने की धमकियां दी जा रही हैं. दरअसल रिया ने कुछ समय पहले अपनी दो और सहेलियों के साथ केदरनाथ यात्रा की थी और इसी के बाद उन्होंने केदरनाथ में भगवान को बेचने और यात्रियों को लूटने के आरोप लगाए थे.

मॉडल रिया और उनकी सहेलिययों ने वीडियो में दावा किया कि केदारनाथ में भगवान को बेचा जा रहा है. यहां पर यात्रियों के साथ लूट मची हुई हैं. केदरनाथ में पुरोहित टीका लगाने तक के पैसे लेते हैं. यात्रियों से पूजा के नाम पर मोठी रकम वसूली जाती हैं. मंदिर के अन्दर पुजारी यूट्यूब देखते रहते हैं.

मंदिरों में अमीर और गरीब यात्रियों से बीच भेदभाव किया जाता हैं. रिया ने कहा कि केदारनाथ मार्ग में मौजूद होटलों में भी लूट मची हुई है और यहां सफाई व्यवस्था का भी बहुत बुरा हाल है. मंदिर में पूजा के तरीके के हिसाब से रेट भी फिक्स किये गए है. रिया की दोस्त ने कहा कि हमने ऐसा मंदिर कहीं नहीं देखा इन लोगों ने तो भगवान को कमर्शियलाइ़ज़ कर दिया हैं.

यहां पूजा की थाली की कीमत 1100 रुपये है जिसमें बड़ी मुश्किल से 50 का सामान होगा. वीडियो के लास्ट में रिया ने कहा कि भगवान को बेच रखा है और अंधविश्वास इतना है कि लोग उनका साथ भी दे रहे हैं.

इसके बाद से ही रिया को लोग हिंदू धर्म विरोधी बताते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. इतना ही नहीं उन्हें किसी ने क’त्ल करने की धमकी तक दे डाली हैं. सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है उन पर मीम्स भी बनने लगे हैं.

इसी बीच उन्हें धमकी देते हुए एक शख्स ने लिखा अगर लॉकडाउन नहीं होता तो रिया मावी के घर पर पथराव हो रहा होता क्योंकि तुम्हारी औकात नहीं कि तुम देव भूमि के बारे में ऐसी बातें बोलो.

उन्हें किसी ने पाकिस्तान चले जाने का सुझाव भी दिया. वहीं एक अन्य ने उन्हें धमकी देते हुए कहा कि दोबारा उत्तराखंड आकर दिखा वहीं का’ट कर रख देंगे तुझे.

इसके साथ ही रिया और उनकी दोनों सहेलियों को रीगल नोटिस भी आया हैं. केदारनाथ के पंडितों की शिकायत के बाद उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजा गया. द लल्लनटॉप के अनुसार इसमें लिखा गया है कि रिया और उनकी दो सहेलियों ने जो बातें वीडियो में बोली हैं उससे केदारनाथ के पंडितों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं.

वीडियो में उन्हें बदनाम किया गया है. जिसके चलते पंडितों के देश-विदेश में रहने वाले यजमानों में गलत संदेश जा रहा है. जबकि आप लोगों की टिप्पणी राज्य सरकार पर होनी चाहिए थी क्योंकि पूजा शुल्क की जो सूची लगाई गई है वो राज्य सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है. आगे लिखा है कि रिया वीडियो हटा लें और माफी मांगें अन्यथा उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.