VIDEO: उत्तरप्रदेश में खाकी हुई शर्मसार, शिकायत लेकर आई महिला के सामने ह’स्तमै’थुन करने लगा पुलिसकर्मी

उत्तरप्रदेश से एक शर्मसार कर देने वाली घ’टना सामने आई है. बताया जा रहा है कि थाने में शिकायत लेकर पहुंची महिला को देखकर पुलिसवाला उसी के सामने ही ह’स्त’मै’थुन करने लगा. यह घि’नौ’नी घ’टना राज्य के देवरिया जिले के भटनी थाने से सामने आई है. इस घ’टना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो में महिला शिकायकर्ता के सामने पुलिसकर्मी ह’स्त’मै’थुन करता नजर आ रहा है.

वहीं वीडियो सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन में ह’ड़कं’प मच गया है. 3 मिनट के इस वीडियो में देखा जा सकता है कि दो महिलाएं शिकायत लेकर पुलिस थाने पहुंची हुई है. एक महिला इंस्पेक्टर के बा’यीं तरफ बैठी नजर आ रही है, अनुमान लगाया जा रहा है कि वह पूर्व की परिचित रही होगी.

वहीं एक अन्य महिला इं’स्पेक्टर के सामने की तरफ बैठी है. वायरल वीडियो में इंस्पेक्टर भी’ष्म पाल यादव अपनी बायीं तरफ बैठी महिला की ओर अ’श्ली’ल इशारे करते हुए मा’स्टबे’ट करता नजर आ रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि जब महिला अपनी माँ के साथ फरियाद लेकर थाने पहुंची, तब प्रभारी निरीक्षक भटनी भीष्मपाल सिंह यादव अपने कार्यालय में थे. पी’ड़ि’ता और उसकी मां किसी भूमि वि’वा’द के मामले में प्रभारी निरीक्षक को बता रही थीं. जिसके बाद भी’ष्मपा’ल सिंह यादव ने उन्हें वहां रखी कुर्सी पर बैठने के लिए कहा.

पी’ड़ि’ता का आरोप है कि प्रभारी निरीक्षक भूमि वि’वा’द के संबंध में बात करते-करते अचानक से ही अ’श्ली’ल हरकत करने लगा. इसी दौरान युवती ने उसका वीडियो बना लिया और अपने परिवार के अन्य सदस्यों को दिखाया जिसके बाद इस वीडियो को फारवर्ड कर दिया गया और यह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

महिला शिकायतकर्ता पुलिसवाले के इस अ’श्ली’ल हरकत को देख द’हश’त में आ गईं. जिसके बाद पी’डि’ता ने स्टेशन ऑफिसर के खिलाफ तहरीर देकर मामला दर्ज कराया है. पी’ड़ि’ता की शिकायत के बाद भीष्मपाल सिंह यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

न्यूज एजेंसी ANI द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक देवरिया के पुलिस अधीक्षक श्रीपति मिश्रा ने बताया है कि वायरल वीडियो में मा’स्टर’बेट करते हुए नजर आ रहे भी’ष्म पाल सिंह को फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है और उस पर एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है फ़िलहाल मामले की जांच चल रही हैं.

साभार- जनसत्ता