यूपी में बढ़े अ'पराधों के कारण कि'न्नर समाज की योगी सरकार को खु'ली चेता'वनी, अगर सरकार नहीं संभल रही तो....

यूपी में बढ़े अ’पराधों के कारण कि’न्नर समाज की योगी सरकार को खु’ली चेता’वनी, अगर सरकार नहीं संभल रही तो….

उत्तर प्रदेश अप’रा’धियों का गढ़ बना हुआ है, आए दिन से यूपी से अ’परा’ध की खबरें आ रही है. राम राज्य का वादा करके सत्ता में आने वाली बीजेपी आज यूपी को जं’गलराज की तरफ ले आई है. इन दिनों यूपी से बहुत ज्यादा अ’परा’धिक मामलों की खबरें सामने आ रही है जो काफी चिं’ता जनक हैं. लेकिन इसके बाद भी यूपी की योगी सरकार कोई ठोस कदम उठाती नजर नहीं आ रही है. ऐसे में आम लोगों में आ’क्रो’श व्याप्त होने लगा है.

इसी बीच कानपुर में संजीत यादव अ’पह’रण और ह#त्या’कां’ड मामले में परिजनों को पुलिस के खुलासे और जांच पर भरोसा नहीं है. परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने खुद को इस मामले से बचाने के लिए फर्जी खुलासे किये है.

एडीजी पीएचक्यू बीपी जोगदं’ड जब शनिवार को पूछताछ के लिए घर पहुंचे तो उन से संजीत के पिता चमन सिंह और बहन रुचि ने सीबीआई जांच की मांग उठाई.

पिता चमन सिंह यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि 13 जुलाई को फिरौती की रकम दी गई थी इसके बाद जब पुलिस पर अ’धिकारि’यों और मीडिया का दबाव बनने लगा तो वो अपने आप को बचाने के लिए फ’र्जी खुलासे करने लगे.

उन्होंने आगे कहा कि बेटे के पास बैग पर्स बाइक कपड़े और मोबाइल था. लेकिन पुलिस ने उन्हें इसमें से एक भी वस्तु नहीं दिखाई. परिजनों का कहना है कि वो जब तक बेटे को श#व को नहीं देख लेंगे तब तक उन्हें पुलिस के किसी भी खुलासे पर भरोसा नहीं हैं.

इसी दौरान कि’न्नर समाज भी संजीत के दुखी परिवार को अपनी सां’त्व’ना देने पहुंचा. संजीत की मां को कि’न्नरों ने 20 हजार की आर्थिक सहायता भी प्रदान की. किन्नर सोनम यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यदि पी’ड़ि’त परिवार को न्याय नहीं मिलता है तो 5000 कि’न्नर उत्तर प्रदेश विधानसभा का घेराव करेंगे.

उन्होंने कहा अगर बीजेपी और योगी से यूपी सरकार नहीं संभल रही हो तो वो अपनी कुर्सी उन्हें दे दें, वह सरकार चलाकर दिखा देंगे. यूपी में बढ़े अ’परा’धों को लेकर उन्होंने कहा कि कि’न्नर अपने आप को इस अ’परा’धिक माहौल में सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे है.

पिता ने कहा कि गोंडा से व्यवसायी के बेटे के अ’पह’रण मामले में एसटीएफ ने उसे कुछ ही घंटों में खोज निकाला और अ’पह’र्ताओं को भी पकड लिया. अगर ऐसी ही कार्रवाई उनके बेटे को खोजने के लिए की गई होती तो आज उनका बेटा भी उनकी आंखों के सामने होता.

साभार- अमर उजाला