किसान आंदोलन: हालात बेकाबू, किसानों और पुलिस के बीच झड़प- किसानों को रोकने के प्रयास विफल

दिल्ली किसान विरोध प्रदर्शन में किसानों को रोकने के सारे प्रयास विफल दिख रहे हैं, गुस्साए किसानों ने सड़कों पे लगे बेरीकेट्स तोड़ दिए

नोएडा/दिल्ली: दिल्ली की और आने वाला ये विशाल विरोध प्रदर्शन (Kisan Virodh Prdarshan) अब और भी ज़्यादा उ’ग्र होता दिखाई दे रहा है. किसानों की पुलिस के साथ झड़’प की खबरें आ रही हैं, बताया जा रहा है कि किसानों और पुलिस के बीच ईंट-पत्थर तक चल गए हैं. पुलिस दिल्ली में आते हुए इन किसानों को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है.

आज सुबह के वक़्त इन किसानों को रोकने के लिए आंसू गैस के गो’ले भी छोड़े गए, और वाटर कैनन से ठंडे पानी की बौछार भी दी गई, लेकिन यह किसान विरोध प्रदर्शन पहले से और भी ज्यादा बेकाबू होता दिखाई दे रहा है. किसानों ने सड़कों पर लगे हुए बेरीकेट्स तोड़कर नदी में फेंक दिए.

Haryana Kisan Virodh Prdarshan

आज तक नहीं हुआ इतना बड़ा किसान विरोध प्रदर्शन

आपको बता दें कि दिल्ली में हो रहे इस बड़े ‘किसान विरोध प्रदर्शन’ में देश भर के 6 राज्यों के किसान शामिल हैं. इनमें मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के किसान एक जुट होकर दिल्ली में रैली निकालने के लिए साथ आ रहे हैं.

Delhi Kisan Prdarshan 2020

मोदी सरकार द्वारा किसानों के लिए लाए गए एक नए कानून का विरोध तब से ही हो रहा है, जब से यह कानून यह बिल संसद में पास किया गया था. किसानों का मानना है कि यह एक तरह से किसान विरोधी कानून है, इससे किसान पूंजीपति व्यवस्थाओं का गुला’म बन कर रह जाएगा.

कई रेलों का आवागमन प्रभावित

किसानों के इस विशाल विरोध प्रदर्शन की वजह से, कई राज्यों की रेल सेवाएं बाधित हो गयी हैं. यहां तक कि दिल्ली में मेट्रो ट्रेन भी रोक दी गई हैं. किसानों को रोकने के लिए दिल्ली बॉर्डर पर प्रशासन द्वारा खासी व्यवस्था की गई है.

अधिकतर जगह पर इन किसान प्रदर्शनकारी मार्च रैली की वीडियोग्राफी भी की जा रही है, जिससे कि कहीं स्तिथि बेकाबू होती देखें तो उससे लोगों पर पैनी नजर भी रखी जाए.