VIDEO:- सपना चौधरी ने किसान बिल को लेकर मीडिया को लगाई जमकर लता'ड़, बोली- सुशांत सिंह राजपूत केस के साथ...

VIDEO:- सपना चौधरी ने किसान बिल को लेकर मीडिया को लगाई जमकर लता’ड़, बोली- सुशांत सिंह राजपूत केस के साथ…

संसद में भारी विरोध के बीच दो किसान बिलों को पारित कर दिया गया है. देश भर में हो रहे किसान बिलों के विरोध के वाबजूद भी सरकार ने इन्हें संसद से मंजूरी दिला दी है. वहीं देश के कई राज्यों में किसान बिल का विरोध तेज होता जा रहा है. किसान सड़कों पर उतर आए है और कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियां भी किसानों का साथ देते हुए बिल का जमकर विरोध कर रही है. पंजाब और हरियाणा में इसका विरोध काफी ज्यादा देखने को मिल रहा है.

इसी बीच हरियाणवी डांसर और एक्ट्रेस सपना चौधरी ने मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर किया है. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से एक वीडियो शेयर करते हुए मीडिया को जमकर लता’ड़ लगाई है.

वीडियो में सपना कह रही हिया कि सुशांत सिंह राजपूत म’र्डर केस या सु’साइड केस अभी हम कुछ भी बोल सकते हैं क्योंकि इस मामले में फ़िलहाल सीबीआई जांच चल रही है. इस केस में हमें लोगों की एकता देखने को मिली है, अगर हम सभी मिलकर दरख्वास्त नहीं करते या दबाव नहीं बनाते तो शायद ही मुद्दा सीबीआई के पास जा पाता, यह भी अन्य मुद्दों की तरह दब के रह जाता.

सपना ने आगे कहा कि अच्छा लगता है अब लोग नेपोटिज्म पर, ड्र’ग्स पर बात कर रहे है.  टैलेंट है लोग उन्हें सपोर्ट कर रहे हैं. धन्यवाद. सुशांत केस को लेकर रोज कुछ ना कुछ अपडेट मीडिया हमें ले रहा है उसके लिए मैं मीडिया का धन्यवाद करती हूं.

लेकिन साथ ही मीडिया से यह कहना चाहूंगी कि एक मुद्दा और भी है, जिसे आप दो-चार चीजों को दिखाते हुए उसे पूरी तरह से नजरअंदाज कर रहे हो. मुझे लगता है आप जानबूझकर नहीं दिखा रहे हो.

अभी कुछ वक्त पहले हुए किसान के दौरान काफी किसानों को गिरफ्तार किया गया उन्हें पी’टा भी गया, कुछ किसान तो म;र भी गए. वो कुछ गलत बात नहीं कर रहे थे वो सिर्फ अपना हक़ मांग रहे हैं.

सपना चौधरी ने कहा कि किसान कह रहा है कि हमारी दरख्वास्त सुनों, हमारी आवाज सरकार नहीं सुनेगी तो कौन सुनेगा. अगर मीडिया इस मुद्दे को नहीं दिखाएगी तो कौन दिखाएगा.

हर मीडियाकर्मी से मेरी हाथ जोड़कर निवेदन है कि आप किसानों की आवाज़ को बुलंद करें, ऐसा करना आपका फर्ज बनता है. सरकार से भी यही विनती है कि किसान का साथ दें, उनकी बात सुनें.