कुर्बानी को लेकर साइबर सेल ने दी मुसलमानों को चेतावनी कहा- जानवरों के फोटो और वीडियो के साथ कई ऑफ़र...

कुर्बानी को लेकर साइबर सेल ने दी मुसलमानों को चेतावनी कहा- जानवरों के फोटो और वीडियो के साथ कई ऑफ़र…

ईद-उल-अजहा करीब आ रहा है, लेकिन कोरोना महामारी के चलते जारी लॉकडाउन बकरीद के उत्सव को फीफा कर रहा है. लॉकडाउन बकरीद पर कुर्बानी में भी बड़ी बाधा बना हुआ है. ईद में कुछ ही दिन बचे है लेकिन मार्केट नहीं खुलने के चलते इस बार कुर्बानी के लिए जानवर मिल पाना मुश्किल हो रहा है. वहीं जिन्होंने जानवर खरीद भी लिए है उन्हें लॉकडाउन में कुर्बानी कहां और कैसी की जाए इसे लेकर चिंता सता रही हैं.

ऐसे हालातों को देखते हुए कई मुसलमान आउटसोर्स कुर्बानी के जरिये जानवरों की कुर्बानी कराने पर विचार कर रहे हैं. मौजूदा समय में यह जरिया काफी लोकप्रिय विकल्प बनता नजर आ रहा हैं लेकिन इसमें भी अब ऑनलाइन ठगी सामने आई हैं.

इसे लेकर साइबर सेल ने चेतावनी जारी करके बताया है. पुलिस और साइबर अपराध विभाग के अधिकारियों ने इस तरह की ऑनलाइन सर्विस का लाभ उठाने वाले नागरिकों को इनकी सर्विस लेने से माना नहीं किया है लेकिन धोखेबाजों से सावधान और सतर्क रहने की चेतावनी दी है.

दरअसल साइबर सेल के अधिकारीयों का कहना है कि नागरिक पूरी जांच-पड़ताल करने के बाद ही उन्हें नकद लेन-देन करें. साइबर सेल ने बताया कि असल में ऑनलाइन जानवरों के चित्रों और वीडियो दिखा कर कई आकर्षक ऑफ़र सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर दिये जा रहे है लेकिन ये सब असल नहीं होते हैं.

उन्होंने कहा है कि ऑनलाइन जानवर खरीदने का चलन पहले से ही हैं लेकिन अब कोरोना वायरस के चलते ऑनलाइन खरीद के साथ-साथ ऑनलाइन कुर्बानी भी इस बार ट्रेंड में आ गई है.

उन्होंने कहा कि मुस्लिम लोग सुन्नते इब्राहिम डॉट कॉम, चैरिटी एलाएंस डॉट इन समेत और भी कई साइट पर जाकर ऑनलाइन कुर्बानी के लिए पैसा देकर बुकिंग करावा रहे हैं. बता दें कि इसमें कुर्बानी के दौरान व्यक्ति की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होती है.

इनमें दावा किया जा रहा है कि यह लोग कुर्बानी के बाद इसका मीट गरीबों में स्वयं बाट देंगे. जानवरों की ऑनलाइन खरीदारी इंडिया मार्ट, पशुबाजार डॉट कॉम जैसी कई साइट से होती रही है. इसके अलावा जिंदा बकरे भी ऑनलाइन बिक कराए जा रहे है.

इसे लेकर बकरा विक्रेता रहीम ने जानकारी दी कि तोतापरी व अजमेरी समेत कई किस्म के 530 बकरे उन्होंने मंगाए थे लेकिन अब मार्केट नहीं लग रहा है तो कुछ लड़कों ने इन्हें ऑनलाइन बेचने की सलाह दी. इसके बाद उन्होंने ऑनलाइन बिक्री की और सिर्फ चार दिन में ही 250 बकरे बिक चुके हैं.