कोरोना: भारत को छोड़ा, दस एशियाई देशों की मदद के लिए आगे आए जैक मा, यूजर बोले: हमारे यहाँ तो थाली ही बजाएंगे

नई दिल्लीः अलीबाबा के संस्थापक जैक मा ने दुनिया भर में फैली कोरोनो वायरस की महामारी से निपटने के लिए 10 देशों को आपातकालीन चिकित्सा आपूर्ति करने का एलन किया है। जिन दस देशों को आपातकालीन चिकित्सा उपलब्ध कराने की बात जैक मा ने कही है उसमें भारत का नाम नहीं है। जैक मा ने जिन दस देशों का नाम लिया है उसमें भारत को छोड़कर कई देश है।

बता दें जैक मा ने इस महामारी से निपटने के लिए भारत को छोड़कर अफगानिस्तान, बांग्लादेश, कंबोडिया, लाओस, मालदीव, मंगोलिया, म्यांमार, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका शामिल है। इन देशों 1.8 मिलियन मास्क, 210,000 टेस्ट किट, 36,000 सुरक्षा के सूट, वेंटिलेटर और थर्मामीटर दिया जाएगा।

कुछ ही दिनों पहले इटली में मेडिकल सप्लाई भेजने के बाद मा अब एशिया के देशों के लिए आगे आए हैं। जैक मा फाउंडेशन ने 17 मार्च को इतालवी रेड क्रॉस को चिकित्सा आपूर्ति सौंपी थी। इसके अलावा उन्होंने अफ्रीकी उपमहाद्वीप में चिकित्सा आपूर्ति भी भेजी थी। साथ में जैक मा ने अस्पतालों, डॉक्टरों और नर्सों से जुड़ी एक हैंडबुक साझा किया था।

आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ कर 315 हो गई है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने शनिवार (21 मार्च) को यह जानकारी दी।

कई राज्यों ने इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए लोगों की आवाजाही और भीड़भाड़ को सीमित करने के अलावा कई एहतियाती उपायों की घोषणा की है। देश में रविवार (22 मार्च) सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को लोगों से सामाजिक मेल जोल से दूर रहने की अपील करते हुए कहा था कि जरूरी हो तभी बाहर निकले अन्यथा घर पर ही रहे।

आईसीएमआर ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या, जिनकी पुष्टि हुई है, 315 हो गई है जिसमें 92 नए मामले शामिल हैं। यह देश में किसी एक दिन में सबसे ज्यादा मामला है। इस आंकड़े में दिल्ली, कर्नाटक, पंजाब और महाराष्ट्र में हुई चार मौतें भी शामिल हैं।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, दिसंबर में चीन से फैले कोरोना वायरस से शनिवार तक दुनियाभर में 11,737 लोगों की मौत हो गई। इस वायरस ने 164 देशों को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे 277,106 संक्रमित हुए।

इटली में 47,021 मामलों में से 4,032 लोगों की मौत दर्ज की गई जबकि 5,129 लोगों की सेहत में सुधार हुआ। चीन में 81,008 मामले सामने आए, इनमें से 3,255 लोगों की जान चली गई और 71,740 मरीज ठीक हुए।

इटली और चीन के बाद सर्वाधिक ईरान में 1,556 मौत जबिक स्पेन में 1,326 और फ्रांस में 450 लोगों की मौत हो गई।

Leave a Comment