VIDEO: दिल्ली दं’गो की आड़ में लड़कियों की अस्मत को कैसे तार-तार किया गया- सुनिए उनकी आपबीती

देश की राजधानी दिल्ली के उत्तर पूर्वी दिल्ली हुए सां’प्रदायिक हिं’सा ने एक बार फिर ज़ाहिर किया है कि किसी भी हिं’सा में सबसे ज़्यादा प्रभावित महिलाएं और बच्चे होते हैं. दिल्ली दं’गो के दौरान दं’गाइयों ने कई ग’ली मोहल्लो को पूरी तरह तहस नहस कर दिया गया और यहाँ तक की दं’गाइयों ने दिल्ली के अशोकनगर में एक मस्जिद की मीनार पर चढ़कर भगवा झंडा और तिरंगा फहरा दिया था।

आपको बता दें उत्तरी पूर्वी दिल्ली में भड़की हिं’सा में कम से कम 47 लोगों की मौ’त हुई है, इनमें हिंदू और मुसलमान दोनों शामिल हैं. हिं’सा के बाद हज़ारों मुस्लिम महिलाएं और बच्चे बेघर हो चुके हैं, उनके सामने भविष्य की अनिश्चितताएं हैं।

 

वही इंदिरा विहार के एक बड़े भी’ड़ वाले हॉल में दं’गों से बेघर हुई महिलाएं और बच्चे दरी और मैट पर बैठ हुए हैं। इनमें कई युवा महिलाएं हैं जिनके गोद में रोते हुए छोटे छोटे बच्चे हैं। और कुछ बड़े बच्चे भी हैं हलाकि इन छोटे बच्चो में बहुत से ऐसे है जिन्होंने अभी चलना सीखा ही है।

बता दें दिल्ली दं’गों के दौरान हुई हिं’सा में बहुत सी महिलाओं के साथ ब’दसलूकी की घ’टनाएं भी हुई हैं, जिनके बारे में महिलाएं बात करने से भी कतराती दिखीं। शिव विहार में हिं’सा के बाद ढेरों महिलाएं मुस्ताफाबाद में शरण लेकर रह रही हैं।

यहां पहुंची महिलाएं एवं बच्चे दं’गा करने पर उतारू हिं’दू भी’ड़ के ह’मले के बाद शिव विहार के अपने अपने घरों से जा’न बचाकर भागे हुए हैं। आपको बता दें शिव विहार दिल्ली में हुए दं’गा में सबसे प्रभावित इलाकों में एक है।

इन महिलाओं ने द वायर को बताया कि दं’गों के दौरान उनके साथ यौ’न हिं’सा की भी घ’टनाएं हुई हैं।

Leave a Comment