अब राम मंदिर के भूमि पूजन पर राज ठाकरे ने उठाए सवाल कहा- अभी लोगों की मानसिक स्थिति बिल्कुल….

दुनिया में फैली कोरोना म’हामा’री के बीच अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने सवाल उठाए है. शुक्रवार को मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि कोविड-19 संक’ट को देखते हुए अयोध्या में राम मंदिर के लिए अभी भूमि पूजन का कार्यक्रम के आयोजन की जरूरत नहीं थी और इसे हालात सामान्य होने के बाद  भी आयोजित किया जा सकता था. बता दें कि भूमि पूजन का कार्यक्रम 5 अगस्त को होने जा रहा है.

इस दौरान राज ठकारे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा राम मंदिर के शिलान्यास के लिय दिये गए ई- भूमि पूजन के सुझाव को भी खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम पुरे उत्साह के साथ ही आयोजित होना चाहिए.

मराठी न्यूज़ चैनल से बात करते हुए मनसे प्रमुख ने कहा की मौजूद समय में राम मंदिर के लिए भूमि-पूजन की आवश्यकता नहीं थी क्योंकि कोरोना सं’कट के चलते लोगों की मानसिक स्थिति बिल्कुल अलग है. इसे स्थिति सामान्य होने पर दो-तीन महीने बाद भी किया जा सकता था.

अगर भूमि-पूजन का यह कार्यक्रम तब होता तो लोग इस कार्यक्रम का और भी अधिक आनंद उठा सकते थे. बताया जा रहा है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्यास ने अयोध्या में पूर्व विवावित स्थल पर राम मंदिर के भूमि पूजन के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आमंत्रित किया है.

वहीं न्यास के सदस्यों के मुताबिक राम मंदिर का निर्माण शुरू करने के लिए भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों द्वारा कराया जाएगा. इसके लिए पीएम मोदी पांच अगस्त को अयोध्या का दौरा करने वाले हैं ऐसी उम्मीद जताई जा रही है, हालांकि अभी तक इसे लेकर पीएमओ ने कोई बयान नहीं दिया हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भूमि-पूजन के कार्यक्रम में पीएम मोदी के आलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हो सकते है. इसके आलावा लालकृष्ण अडवाणी और भी कई बड़ी हस्तियों के शामिल होने की खबर हैं. न्यास के अनुसार इस दौरान सोशल डिस्टेंस का पालन भी किया जाएगा.

साभार- एनडीटीवी