भारत का फ्रांस को खुला समर्थन, सरकार की तरफ से जारी एक प्रेस स्टेटमेंट में कहा गया है कि…

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के वि’वा’दित बयान के बाद मुस्लिम देशों में मचे बा’वल के बीच फ्रांस की मशहूर व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्दो ने अपने कवर पेज पर तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन का कार्टू’न प्रकाशित किया है, जिसके बाद तुर्की में मै’ग्ज़ी’न के खिला’फ भा’री गु’स्सा देखने को मिल रहा है. इसी बीच बुधवार को तुर्की के अधिकारियों ने शार्ली एब्दो में छापे कार्टून के ख़िला’फ़ हम’ला फ्रांस पर हम’ला बोला है.

इसके साथ ही उन्होंने मैग्ज़ीन पर नफ़रत और दुश्मनी का बीज बोने का आरो’प भी लगाया है. इसके साथ ही तुर्की ने कार्टून की कड़ी आलोचना करते हुए इस कार्टून के ख़िलाफ़ क़ानूनी और कूटनीति’क क़दम उठाने का ऐलान भी किया है.

President of France

इस कार्टू’न के चलते तुर्की और फ़्रांस के बीच तना’व गहराता जा रहा है. वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी एक पत्र जारी करते हुए मुस्लिम देशों से पश्चिमी देशों के ख़िला’फ़ ए’कजु’ट होने की अपील की है.

इन सभी बयान बा’जि’यों के बीच भारत सरकार की तरफ से भी प्रतिक्रिया दी गई है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने बुधवार को अपनी प्रतिक्रिया दी है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके फ़्रांसीसी राष्ट्रपति का समर्थ’न किया है.

भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि इंटरनेशनल वाद वि’वा’द के सबसे बुनियादी मानकों के उल्लंघन के मामले में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के ख़िलाफ़ अस्वीकार्य और आ#पत्ति’जन’क भाषा में किए जा रहे व्यक्तिगत ह’म’लों की हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं.

इसके साथ ही विदेश मंत्रालय ने फ़्रांसीसी शिक्षक की ह#त्या पर कहा कि इसके साथ ही हम भयानक तरीक़े से क्रू’र आ#तं’क वा’दी हम’ले में फ़्रांसीसी शिक्षक की ह#त्या किये जाने की क’ड़ी निंदा करते है. भारत उनके परिवार और फ्रांस के लोगों के प्रति अपनी गहरी संवेदना’एं जाहिर करता हैं.

बयान में कहा गया है कि किसी भी कारण के चलते या किसी भी परिस्थितियों के बीच आ#तं’क वा’द के समर्थन का कोई औ’चि’त्य नहीं है. हालांकि भारतीय विदेश मंत्रालय ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के बयान पर कोई टि’प्प’णी नहीं की हैं.

बता दें कि भारत में फ़्रांस के राजदूत इमैनुएल लीनैन ने भारतीय विदेश मंत्रालय के बयान को ट्वीट किया है. इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में भारतीय विदेश मंत्रालय का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा कि आ#तं’कवा’द के ख़िलाफ़ जं’ग में फ़्रांस और भारत हमेशा एक-दूसरे पर भरोसा कर सकते हैं.

साभार- बीबीसी