कोरोना आपदा के चलते ममता सरकार का बड़ा ऐलान, पश्चिम बंगाल में 6 महीने तक मुफ्त मिलेगा ये सामान

कोलकाता: दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने कहर मचाया हुआ है. भारत में इस खतरनाक बीमारी के चलते मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. देश में अब तक 210 केस सामने आ चुके हैं. ऐसे में सभी राज्य सरकारें सतर्कता बरत रही हैं. इसी के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नया आदेश जारी किया है।

दरअसल, हाल ही में पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यह साफ कर दिया है कि किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरती जाएगी. ममता बनर्जी ने एक कार्यक्रम में कहा,’आप वीआईपी स्टेटस का दावा कर COVID-19 परीक्षणों से बच नहीं बच हैं।

पश्चिम बंगाल में अगले 6 महीने मुफ्त मिलेंगे गेहूं-चावल

इसी के चलते ममता ने कहा कि सरकारी दफ्तरों में सिर्फ 50 फीसदी ही कर्मचारी काम करेंगे. साथ ही प्राइवेट सेक्टर को भी यह नीति अपनानी होगी. इसके अलावा ममता सरकार ने अगले 6 महीने तक राज्य में चावल और गेहूं मुफ्त बांटने का ऐलान किया है।

दरअसल, बंगाल में अभी तक 7.5 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को 2 रुपये प्रति किलो के हिसाब से गेहूं और चावल दिए जा रहे थे. लेकिन कोरोना वायरस के चलते ममता सरकार ने ऐलान किया कि अगले छह महीने तक सभी लाभार्थियों को चावल और गेहूं मुफ्त बांटे जाएंगे।

इसके अलावा ममता ने कहा कि इस वायरस से बचने के लिए सभी अहम कदम उठाए जा रहे हैं. विदेश से आने वाले लोगों पर निगरानी रखी जा रही है. परीक्षण किटों की कमी है, हमने केंद्र सरकार से अनुरोध किया है कि जांच किट और भेजी जाएं।

आपको बता दें कि बुधवार को ममता बनर्जी ने राज्य के कर्मचारियों के लिए नए आदेश जारी किया कि सार्वजनिक परिवहन में भीड़ से बचने के लिए एक घंटे पहले अपने कार्यालय से निकलेंगे. वहीं राज्य के एक शख्स के वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद ममता ने कहा था कि यह कहना गलत है कि कोलकाता में कोरोनो वायरस का मामला सामने आया है।

संक्रमित व्यक्ति यूनाइटेड किंगडम से आया है. मुझे नहीं पता कि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उनकी कैसी जा़ंच हुई. बंगाल में कोरोना वायरस का अभी तक एक मामला सामने आया है।

Leave a Comment