परेशान जनता पर एक और मा’र, केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपए और डीजल पर 13 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई

देशभर में कोरो’ना की वजह से, काफी लंबे समय से लॉक डाउन चल रहा था. लेकिन इस लॉक डाउन की वजह से देश के नागरिकों को भी बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. केंद्र सरकार ने इसका उपाय निकाते हुए ऐसे आदेश जारी किए गए हैं, जिनके अनुसार ग्रीन जोन वाले क्षेत्रों में कुछ राहत दी गई है. जिसके चलते ग्रीन जोन वाले क्षेत्रों में दुकानें खुलने लगी है, और सुचारू रूप से काम धंधे चालू हो चुके हैं.

कोरो’ना की वजह से हमारे देश की अर्थव्यवस्था काफी नीचे आ गई है, हालांकि अर्थव्यवस्था को मजबूत होने में अभी लंबा समय लग सकता है, इसी बीच कुछ आर्थिक बोझ कम करने की गरज से केंद्र सरकार द्वारा एक फैसला लिया गया है. जिसके चलते केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपए और डीजल पर 13 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है.

बताया जा रहा है कि इस तरह से लिए गए बदलाव की वजह से आम लोगों की जेब पर कोई असर नहीं पड़ने वाला. नयी एक्साइज ड्यूटी बड़ने के बाद भी पेट्रोल पंप पर आपको रिटेल दाम जस के तस मिलेंगे. इस बड़ी हुए एक्साइज ड्यूटी को ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को वहन करना होगा.

पेट्रोल-डीज़ल पर एक्साइज ड्यूटी की नई कीमतें मंगलवार को आधी रात से लागू की गयी हैं. इससे पहले दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार और फिर इसके बाद पंजाब की सरकार ने मंगलवार दिन में पेट्रोल-डीजल पर कुछ वैट बढ़ा दिया. अब देखना यह होगा कि इनकी तरह ही क्या दूसरे राज्य भी अपना राजस्व बढाने के लिए पेट्रोल-डीजल पर वैट बढ़ा सकते हैं या नहीं.

दिल्ली में पेट्रोल 71.26 रुपए प्रति लीटर

आपको बता दें कि दिल्ली में वैट बढ़ने के बाद पेट्रोल की कीमत में 1.67 रुपए और डीजल की कीमत में 7.10 रुपए प्रति लीटर का उछाल आया है. इस नयी दरों के मुताबिक अब राजनाधी, दिल्ली में  पेट्रोल की कीमत 69.59 रुपए से बढ़कर 71.26 रुपए प्रति लीटर पहुँच गयी है. इसके अलावा डीजल की कीमत भी अब 62.29 रुपए से बढ़कर 69.39 रुपए प्रति लीटर तक पहुँच चुकी है.

देश की बड़ी तेल कंपनी, इंडियन ऑयल के वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली में अब पेट्रोल पर अब वैट बढ़कर 16.44 रुपए प्रति लीटर तक हो चूका है, वहीं, डीजल पर नयी वैट की कीमत 16.26 रुपए प्रति लीटर तक हो गयी है. दिल्ली में अब आपको पेट्रोल पर 27 फीसदी के बजाए 30 फीसदी देना होगा और डीजल पर 16.75 फीसदी के बजाय 30 फीसदी वैट देना होगा.

50 दिन बाद बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत

आपको बता दें कि कोरो’ना की वजह से पिछले काफी समय से क्रूड ऑइल, यानि के कच्चे तेल की कीमतों में काफी ज़्यादा गिरावट आयी है. इसको देखते हुए, देश में भी पिछले लंबे समय से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया गया था.

देश की राजधानी दिल्ली में भी 50 दिनों के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है, अगर क्रूड ऑइल के हिसाब से देखा जाए तो देश भर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में काफी कटौती की जानी चाहिए थी, जो नहीं की गयी. हालाँकि अभी भी क्रूड ऑइल की कीमतें पिछली कीमतों के मुकाबले अभ भी कम ही है. दुनियाभर में तेल का प्यापर विदेशी मुद्रा दर और क्रूड की कीमतों के आधार पर होता है.

Leave a Comment