निजामुद्दीन मरकज मामला: मुस्लिमों को अलग करने का बहाना है कोरोना’ कहने वाले मौलाना साद का नया ऑडियो वायरल

दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के मरकज में एक बड़ी धार्मिक सभा की अगुवाई करने वाले मौलाना साद का एक नया ऑडियो वायरल हो रहा है। इमसे उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उन्होंने खुद को क्वारंटाइन किया है। गुरुवार को जारी ऑडियो में मौलाना ने कहा, जहां-जहां भी जमात के लोग ठहरे हुए वो सभी प्रशासन का निर्देशों का पालन करें।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए समूचे देश में अभियान तेज करते हुए विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने कोविड-19 के सबसे बड़े हॉटस्पॉट बनकर उभरे दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में तबलीगी जमात के आयोजन में शिरकत करने वाले 6,000 से ज्यादा लोगों की पहचान की गई है।

दिल्ली निजामुद्दीन स्थित मस्जिद में एजेंसियों से चेतावनी के बावजूद 2,000 से ज्यादा लोगों की भीड़ ने धार्मिक सभा में हिस्सा लिया। मौलाना साद पर आरोप है कि उन्होंने प्रशासन के निर्देशों को दरकिनार करते हुए इतने बड़े आयोजन को मंजूरी दी है।

आपको बता दें इस मामले में निजामुद्दीन पुलिस स्टेशन में मौलाना सहित सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। मौलाना साद 28 मार्च से गायब हैं और पुलिस उनकी तलाश में जगह जगह छपे मार रही है।

वही दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने उन एजेंसियों को भी नोटिस जारी किया, जिन्होंने सभा के समय शहर में धारा 144 लागू करने के बारे में मस्जिद के प्रबंधन को सूचित किया था।

इस मामले में विशेष पुलिस आयुक्त (अपराध शाखा) प्रवीर रंजन ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्होंने मौलाना साद कांधलवी सहित सात लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज की है।

Leave a Comment