यूपी के मेरठ में बजरंग दल कार्यकर्ता ने मस्जिद पर भगवा ध्वज फहराया, तनाव

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर मेरठ शहर में भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. लेकिन सुरक्षा के बीच रजबन में एक धार्मिक स्थल पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा भगवा रंग का झंडा लगा देने का मामला सामने आया है. जिसके चलते लोगों में आक्रोश फ़ैल गया है. बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद वहां बड़ी संख्या में भीड़ जुट गई और काफी हंगामा भी किया.

वहीं सूचना मिलने पर सदर बाजार पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को शांत कराते हुए घटना की जानकारी ली. पुलिस ने बताया कि राम जन्मभूमि पूजन के अगले दिन यानि गुरुवार को सदर बाजार थाना क्षेत्र के रजबन स्थित एक मस्जिद पर बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ता जा पहुंचे.

 

इसके बाद एक कार्यकर्ता ने भगवा झंडा लेकर धर्मस्थल पर पहले तो फोटो खिंचवाया और उसके बाद मस्जिद पर ही झंडा लगा दिया. इस दौरान उसके साथ आए अन्य कार्यकर्ता भी मस्जिद के पास में भी खड़े रहे.

घटना स्थल पर मौजूद लोगों का आरोप है कि इस दौरान बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जय श्रीराम के नारे भी लगाए. इसी के बाद मुस्लिम समाज के लोगों की भीड़ जुट और देखते ही देखते हंगामा होने लगा.

वहीं इलाके में तनाव की स्थिति उत्पन्न होने की खबर पुलिस को सूचना दी गई. इसी बीच आजाद समाज पार्टी के नेता बदर अली ने मौके पर पहुंचकर इस घटना से आहत मुस्लिमों को शांत कराया और प्रशासन से जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की.

बदर अली ने लोगों को शांत कराते हुए कहा कि अभी शहर में धारा 144 लागू है और किसी भी कीमत पर न तो भीड़ जुट सकती है और ना ही किसी तरह का हंगामा या प्रदर्शन करना जायज है. इसलिए आप लोग शांत रहिगें.

इसी बीच सुचना मिलते ही एसओ सदर बाजार मौके पर पहुंचे. पुलिस अधिकारियों ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जल्द से जल्द और कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया इसी के बाद लोग शांत हुए.

एसओ सदर बाजार विजय गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में रजबन निवासी अंकित त्रिपाठी के खिलाफ लोगों में धार्मिक आक्षेप पैदा करने के आरोप में मामला दर्ज करके उसे गिरफ्तार कर लिया है. जबकि अन्य लोगों की तलाश जारी है.

एसपी सिटी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह ने कहा कि आरोपी अंकिल बजरंग दल का कार्यकर्ता है वो माहौल बिगाड़ने का प्रयास कर रहा था. अब तक कि जांच पड़लात में सामने आया है कि युवक ने मस्जिद पर भगवा झंडा नहीं लगाया था बल्कि वो धार्मिक स्थल पर झंडा लेकर चढ़ा था.

साभार- अमर उजाला