ओबामा ने भारतीय लोगों की दुर्द’शा पर ध्यान खींचा, वहीँ भारतीय उद्योगपतियों ठाठ-बाट से रहने के बारे में भी ज़िक्र किया

अमेरिका के 44वें राष्ट्रपति रहे ओबामा ने अपनी नवीनतम किताब ए प्रॉमिस्ड लैंड में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की जमकर तारीफ की है. वही भारतीय उद्योगपतियों पर सवाल उठाए.

वॉशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barack Obama) अपनी नई किताब के जरिए हर रोज नए-नए खुलासे कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी की अंदरुनी सियासी कलह को लेकर भी कई सनसनीखेज खुलासे किए थे। ओबामा ने अपनी किताब में लिखा है कि सोनिया गांधी ने डॉ. मनमोहन सिंह को इसलिए प्रधानमंत्री बनाया था क्योकि उन्हें और राहुल गांधी को मनमोहन सिंह से कोई खतरा नहीं था।

पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी किताब “ए प्रॉमिस्ड लैंड” (A promised land) में ओबामा ने लिखा है की सोनिया ने मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाने का फैसला काफी सोच समझ कर लिया था। आपको बता दें पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की नई किताब “ए प्रॉमिस्ड लैंड” आने के साथ ही भारत की राजनीति में भी कई मुद्दे गर्माने लगे हैं।

barack obama
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति रहे ओबामा

 

 

वही अब बराक ओबामा ने अपनी नई पुस्तक में भारतीय उद्योगपतियों के बारे में भी कई बाते लिखते हुए उनपर निशाना साधा है. बराक ओबामा ने अपनी नई पुस्तक ए प्रॉमिस्ड लैंड में कहा की भारतीय उद्योगपतियों ने अपने ठाठ-बाट में राजाओं और मुगलों को भी पीछे छोड़ दिया है, जबकि भारत में लाखों करोड़ों लोग बेघर हैं जिनका कोई ठिकाना नहीं है।

ओबामा जब भारत आये थे तो कतार में लग गये थे अमीर

Indian industrialist
भारतीय उद्योगपतियों के साथ बराक ओबामा

गौरतलब है की, अमेरिका के 44वें राष्ट्रपति रहे बराक ओबामा साल 2015 में जब भारत यात्रा पर आये थे तो उनसे मिलने के लिए देश के दिग्गज अमीर ओबामा से मिलने के लिए कतार में खड़े थे. आपको बता दें इसमें मुकेश अबानी से लेकर रतन टाटा तक शामिल थे. तब यह तस्वीर काफी वायरल हुई थी।

बता दें ओबामा ने हाल में आई अपनी किताब ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के साथ अपनी मुलाकात और अनौपचारिक बातचीत का जिक्र करते हुए भारतीय उद्योगपतियों पर सवाल खड़े किये है।

न्यूज एजेंसी पटीआई के मुताबिक ए प्रॉमिस्ड लैंड ओबामा में लिखा है, भारत के अंदर देशभर में लाखों करोड़ों लोग गंदगी में रह रहे हैं, अका’लग्र’स्त गांवों या बदहाल झुग्गी-झोपड़ी बड़े शहर के आस-पास बसी सैकड़ों बस्तियों में अपना जीवन बसर कर रहे हैं. वहीं भारतीय उद्योग के महारथी ऐसा जीवन जी रहे हैं कि उन्होंने राजा महाराजा और मुगलों को भी पूछे छोड़ दिया।

वही इस किताब में ओबामा ने 2008 के चुनाव प्रचार अभियान से लेकर पहले के कार्यकाल के अंत में एबटाबाद (पाकिस्तान) में अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मा’रने के ऑपरेशन तक की अपनी यात्रा के बारे में लिखा है. इस किताब के दो भाग हैं. पहला भाग मंगलवार को दुनियाभर में जारी हुआ है।

इसके अलावा भारत और पाकिस्तान मुद्दे को लेकर ओबामा ने लिखा, पाकिस्तान के प्रति दुश्मनी भाव व्यक्त करना राष्ट्र को एकजुट करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है। क्योकि ढेर सारे भारतीयों को इस बात पर गर्व करते है की पाकिस्तान का मुकाबला करने के लिए उनके पास प’रमा’णु जैसे ह’थिया’र है।