VIDEO: मुझे मा’रकर सु’साइ’ड बता सकते हैं, लेकिन मैं इतना बु’जदिल नहीं हूं जो खु’दकु’शी करूँ, डॉ कफील खान का वीडियो वायरल

गोरखपुर के डॉ. कफील खान काफी लंबे समय से जेल में बंद है, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में भ’ड़का’ऊ भा’षण देने के आरोप में कफील को गिरफ्तार करके जेल में डाला दिया गया है. इसी बीच डॉ. कफील खान का एक वीडियो सामने आया है जिसने सोशल मीडिया समेत कई लोगों को हिला कर रख दिया है. वीडियो में डॉ. कफील ने स’नस’नीखे’ज खुलासा करते हुए अपनी जा’न को ख’तरा बताया हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में कफील खान कहते हैं कि मुझे और मेरे परिवार को ड’र है कि पुलिस मुझे किसी ए’नका’उं’टर में यह कहते हुए ना मा’र दें कि मैं भा’गने की कोशिश कर रहा था. या फिर ऐसा दिखाया जाएगा कि मैंने आ#त्मह#त्या कर ली हैं.

 

डॉक्टर कफील वीडियो में आगे कहते हुए नजर आ रहे हैं कि मैं अपनी इस लास्ट वीडियो में एक बात कहना चाहता हूं कि मैं इतना बुजदिल नहीं हूं जो सु’सा’इड कर लूंगा. मैं कभी भी आ#त्मह#त्या नहीं करूंगा. मैं यहां से भागने वाला भी नहीं हूं जो पुलिस वाले मुझे मा’र दें.

आपको बता दें कि इससे पहले कफील खान द्वारा लिखा गया एक चार पन्नों का पत्र भी सामने आया था. पत्र में उन्होंने मथुरा जेल की नारकीय स्थिति के बारे में विस्तार से उल्लेख किया था.

पत्र में उन्होंने दावा किया था कि करीब 150 कै’दी’यों के बीच सिर्फ एक ही शौचालय मौजूद हैं हालांकि जे’ल के वरिष्ठ अधीक्षक शैलेंद्र मैत्री ने कफील के पत्र की स’त्यता पर सवालियां निशान लगाए थे.

उन्होंने डॉक्टर खान द्वारा कोई भी पत्र लिखे जाने से ही इनकार कर दिया है. मैत्री ने कहा कि हम सभी आउटगोइंग मेल को स्क्रीन करते हैं. वहीं अपने पत्र में खान ने अपनी नजर बंदी के बारे में बताया था. उन्होंने लगातार होने वाली बिजली कटौती पर भी सवाल उठे थे.

इस मामले को लेकर डॉ. कफील के भाई अदील अहमद खान ने बताया कि यह चार पन्नों का पत्र 15 जून को हमारे भाई डॉ. कफील द्वारा लिखा गया था और इसे 1 जुलाई को पोस्ट के जरिए परिवार तक पहुंच गया था.

वहीं सोशल मीडिया पर डॉक्टर कफील खान का यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इसके साथ ही सोशल मीडिया यूजर्स भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कई लोग उन्हें बेकसूर बताते हुए उनकी रिहाई की मांग कर रहे हैं.

साभार: जनसत्ता