VIDEO: मुसलमानों को आ’तंकवा’दी कहने वाली डॉ आरती लालचंदानी बयान से पलटी, अब हाथ जोड़कर माफी माँग रही है

देश कोरोना महा’मा’री के सामने बेबस होता जा रहा है और हमारे देश के डॉक्टर रात-दिन बिना जाति धर्म देखें मानवता की रक्षा करने में जुटे हुए है. लेकिन दूसरी तरफ कुछ प्रशासनिक अधिकारी धर्म और जाति के काले चश्मे पहने हुए घूम रहे है. कुछ ऐसी ही का’ली और ग’न्दी मा’नसिकता रखने वाले लोग इस महा’मा’री में भी ध’र्म और जाति ढूंढने में जुटे हुए हैं. ऐसी मानसि’कता वाले लोगों के लिए मानवता और इं’सा’नियत जैसे श’ब्द बेकार हैं.

ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश से सामने आया है. सूबे के कानपुर से एक धर्म विशेष के कोरोना मरीजों को आ#तं’कवा’दी बताया जा रहा है. इतना ही नहीं इस दौरान उन्हें कई तरह के अ’पश’ब्दों का उपयोग करते हुए भी देखा गया.

इससे पहले भी सोशल मीडिया पर कई लोगों ने समुदाय विशेष के खिलाफ आ’प’त्ति’जनक टिप्पणी की थी लेकिन बाद में गल’ती का अहसास होने पर उन्होंने मा’फ़ी भी मांगी थी.

बीते दिनों से कानपूर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज प्राचार्या डॉ. आरती लालचंदानी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में डॉ आरती जमातियों को खुले तौर पर आ#तं’कवा’दी करार देती नजर आ रही थी.

इतना ही नहीं वीडियो में डॉ आरती सरकार को सुझाव देते हुए भी नजर आ रही है. वह कह रही है कि कोरोना महा’मा’री से सं’क्रमि’त जमा’तियों को जेल में बंद कर देना चाहिए. इस दौरान प्राचार्या आरती द्वारा जमा’तियों के खिलाफ अ’भ’द्र टिप्प’णी करते हुए भी सूना जा रहा था.

मुसलमानों से माफी मांगी.

अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है और हर तरफ डॉ. आरती की जमकर आलोचना की जा रही हैं. जिसके बाद डॉ. आरती लालचंदानी ने इस मामले पर सफाई देते हुए एक दूसरा वीडियो जारी किया है जिसमें वह यू टर्न लेती नजर आ रही हैं.

वीडियो में वह कहती है कि मुस्लिम हमारे भाई जैसे हैं. मैंने उन्हें आहत पहुंचे ऐसी कोई बात नहीं कही है. इस तरह की बातें मीडिया द्वारा फैलाई जा रही है हम उन सब के खिलाफ एक्शन लेंगे. उन्होंने कहा कि सभी जाति और धर्म के लोग हमारे मेडिकल कॉलेज में है और हम किसी से भेद भाव नहीं करते हैं.

इसके साथ ही डॉ. लालचंदानी ने दावा किया कि वीडियो क्लिप के साथ छे’ड़छा’ड़ की गई है. डॉ. का कहना है कि यह कुछ लोगों की साजिश है और उन्हें इसके लिए ब्लै’कमे’ल भी किया गया था. कुछ लोग अशां’ति फ़ैलाने की कोशिश कर रहे है. मैंने किसी भी समुदाय का नाम नहीं लिया है लेकिन मैं विशेष रूप से उस समुदाय की बड़ी प्रशंसक हूँ और उनके लिए अपनी जा’न भी दे सकती हूँ.

 

वहीं आज फिर एक डॉ. आरती का एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में डॉक्टर आरती लालचंदानी एक मौलाना के साथ नजर आ रही हैं. वह इस वीडियो में कहती है कि मैं अपने सभी मुस्लिम भाई-बहन, समुदाय के सभी लोगों से, दुनिया के सभी मुसलमानों से माफ़ी मांगती हूँ.

उन्होंने कहा कि मैं उनकी भा’वनाओं को ठेस पहुंचने के लिए मांफी मांगती हूं और आगे फिर कभी ऐसा नहीं होगा यह आश्वासन देती हूं. उन्होंने कहा कि मैं 38 साल से अस्पाल के जरिए लोगों की सेवा कर रही हूं और आगे भी बिना किसी भे’दभा’व के इसी तरफ सेवा करती रहूंगी.