बिहार पुलिस को है नवजोत सिंह सिद्धू की तलाश, आरोप है कि उन्होंने मुसलमानों से कही थी यह बड़ी बात…

अपने बयानों के चलते विवादों में रहने वाले पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू अब मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे है. बिहार पुलिस नवजोत सिंह सिद्धू से पूछताछ करने के लिए पिछले तीन दिनों से अमृतसर में डेरा डाले हुए है. लेकिन अभी तक सिद्धू सामने नहीं आए हैं. नवजोत सिंह सिद्धू अक्सर ही विवादित बयान देकर सुर्ख़ियों में आते रहते है इससे पहले वो बीजेपी पार्टी में शामिल थे.

सिद्धू से पूछताछ के लिए बिहार के कटिहार से पुलिस आई है. दरअसल कटिहार में सिद्धू के खिलाफ एक केस दर्ज है और पुलिस इसी के सिलसिले में उनसे पूछताछ के लिए आई हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कटिहार के बारसोई थाना में दर्ज कां’ड संख्या 93/ 19 में सिद्धू पर आरोप लगाया गया है कि 16 अप्रैल 2019 को कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर के लिए किये गए चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया था.

कटिहार के आरक्षी अधीक्षक विकास कुमार ने बताया कि इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी जनार्दन राम और जावेद आलम को अमृतसर भेजा गया है. यह दोनों अधिकारी पिछले 3 दिनों से अमृतसर में ही हैं लेकिन अभी तक आरोपी नवजोत सिंह सिद्धू फरार हैं. फिलहाल दोनों अधिकारी कां’ड की जांच में जुटे हुए हैं.

एसपी ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनाव प्रचार के दौरान कटिहार में बलरामपुर विधान सभा में विवादित भाषण दिया था. जिसमें उन्होंने मुस्लिम मतदाताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि आप (मुस्लिम समुदाय) यहां अल्पसं’ख्यक होकर भी बहुसंख्य’क हैं.

उन्होंने कहा कि अगर आप एकजुटता दिखाएंगे तो आपके प्रत्याशी तारिक अनवर को यहां कोई भी नहीं हरा सकता है. यहां आपकी आबादी 64 फीसदी है यहां का मुसलमान हमारी पगड़ी है. अगर आपको कोई भी दिक्कत हो तो मुझे याद कर लेना मैं पंजाब में भी आपका भरपूर साथ दूंगा.

भाषण के दौरान सिद्धू ने विरोधियों पर निशाना साधते हुए आगे कहा कि यह लोग आपको आपस में बांट रहे हैं. मुस्लिम समुदाय को बांट रहे हैं. ओवैसी जैसे लोगों को आगे लाकर वोट बांटना चाहते है जिससे वह जीत सके.

सिद्धू इतने पर भी नहीं रुके और आगे कहते है कि अगर आप लोग एक साथ होकर 64 फीसदी के साथ आए तो सब उलट जाएगा और मोदी सलट (हार जाएंगे) जाएंगे. चुनावों में इस बार ऐसे छक्के मरो कि  मोदी बाउंड्री से पार चला जाए. इसी भाषण को लेकर कई नेताओं ने आपत्ति दर्ज कराई है और बारसोई थाने में उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया था.

साभार- जनसत्ता