NDA छोड़ते ही मोदी सरकार ने दिखाया अपना रंग, हरसिमरत कौर के खिलाफ खोले पुराने मामले

NDA छोड़ते ही मोदी सरकार ने दिखाया अपना रंग, हरसिमरत कौर के खिलाफ खोले पुराने मामले

नरेंद्र मोदी सरकार हाल ही में तीन कृषि बिल लेकर आई हैं. जिनका देशभर में जमकर वि’रोध हो रहा है. इसी कृषि बिल के वि’रोध में मोदी केबिनेट में मंत्री रही अकाली दल की नेता और सांसद हरसिमरत कौर ने हाल ही में इस्तीफ़ा दे दिया था. इतना ही नहीं एनडीए के सबसे पुराने सहयोगी के तौर पर जाने जाने वाले अकाली दल ने बीजेपी से गठबंधन ख’त्म करते हुए खुद को एनडीए से अलग कर लिया हैं.

इसके बाद अब खबर आई हैं कि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर के खिलाफ संपति से जुड़े कुछ पुराने मामलों को ईडी ने फिर से खोल दिया हैं. मोदी सरकार से इस्तीफा देने के बाद कौर सरकार के निशा’ने पर आ गई हैं और अब मोदी सरकार की सरकारी एजेंसियों ने गड्डे मु’र्दे उखाड़ना शुरू कर दिया हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हरसिमरत कौर की संपत्ति से जुड़े कुछ पुराने मामलो में ईडी ने फिर से जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं. लोक भारत डॉट इन के अनुसार ईडी द्वारा हरसिमरत कौर ने उनकी संपत्ति से जुड़े सारे पुराने मामले दोबारा खोले जाने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि ये तो बीजेपी के पुराने हथ’कंडे हैं.

कौर ने आगे कहा कि हमने अपने गुरु से सीखा हैं कि ऐसी चीजों से घबराना नहीं चाहिए. जब मालिक साथ है तो फिर ऐसे में चाहे ये जितनी भी चीजें कर लें जितने भी वार हम पर कर लें मुझे कोई डर नहीं हैं.

वहीं जब उनसे कृषि बिलो के विरोध में केबिनेट से इस्तीफा देने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि अगर मैंने इस्तीफा दिया है तो मैंने गंवाया ही हैं, कुछ पाया नहीं है. इस इस्तीफे के साथ ही हमारे किसान भाइयों का मुद्दा सेंटर में आ गया हैं. आप देख सकते हैं कि कैसे मोदी सरकार को संसद एक हफ्ता पहले ही स्थगित करना पड़ी.

आपको बता दें कि संयुक्त अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने कृषि बिलो के विरोध में मोदी केबिनेट से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद अकाली दल पंजाब के किसानों के साथ सड़कों पर उतर आया हैं. इसके आलावा अकाली दल ने बीजेपी से अपनी वर्षो पुरानी दोस्ती भी तो’ड़ते हुए एनडीए छोड़ने का ऐलान किया.

कृषि बिलो के विरोध में विपक्षी पार्टियों के साथ मिलकर अकाली दल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से कृषि बिलों को मंजूरी नहीं देने की गुहार लगाई थी. अकाली दल ने कृषि बिलो पर विरो’ध जाहिर करते हुए विपक्ष का समर्थन किया था.

साभार- लोकभारत डॉट इन