NDTV के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान बोले- अगर विकास दुबे नहीं म’रता तो 2022 में विधायक-मंत्री….

कानपुर के बिकारु गांव में 2 जुलाई 2020 को गैं’ग’स्ट’र विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुए ह’म’ले में आठ पुलिसकर्मी श’हीद हो गए. जिसके बाद इस घ’टना के मुख्य आरोपी विकास दुबे को 9 जुलाई को मध्यप्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया गया था और जब उसे 10 जुलाई को कानपुर लाया जा रहा था उसी दौरान पुलिस की गाड़ी दु’र्घ’टना’ग्र’स्त हो गई और मौके का फायदा उठाकर विकास ने भागने की कोशिश की और इसी दौरान वह पुलिस ENCO-UNTER में मा’रा गया.

लेकिन इस ENCO-UNTER को लेकर कई सवाल उठ रहे है. इसी बीच एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान ने कहा कि अगर विकास दुबे मा’रा नहीं जाता तो वो 2022 तक विधायक बन गया होता. कमाल ने अगर विकास दुबे नहीं म’र’ता तो क्या हो सकता था इसकी पांच संभावनाएं जताई हैं.

दरअसल विकास दुबे के ENCO-UNTER को लेकर कई सवाल उठ रहे है. कई लोग और राजनेता इसे फर्जी ENCO-UNTER बता रहे है. लोगों का कहना है कि विकास दुबे के जाने के साथ ही कई बड़े राज भी चले गए है. इतना ही नहीं सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने तो विकास का संबंध यूपी सरकार के खास नेताओं से होने की तरह संकेत भी किया.

अखिलेश ने अपने ट्वीट में लिखा कि दरअसल ये कार नहीं पलटी है बल्कि राज़ खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई हैं. अब इस मामले को लेकर एनडीटीवी के पत्रकार कमाल खान ने बड़ा बयान दिया है.

शुक्रवार को किये गए अपने ट्वीट में खान ने कहा कि अगर विकास दुबे मा’रा नहीं जाता तो 2022 में वो विधायक होता और हम मीडियाकर्मी उसके बंगले के गेट पर लाइन में खड़े होकर उसकी बाइट ले रहे होते.

कमाल ने ट्वीट में लिखा कि विकास दुबे नही म’र’ता तो शायद यह होता: पहला डर के कारण कोई भी उसके खिलाफ गवाही नहीं देता. दूसरा वो अपनी समाज का एक बड़ा नेता बन जाता. तीसरा साल 2022 में विधायक मंत्री होता. चौथा जो पुलिस आज उसे पकड़ कर ला रही थी, वो उसकी सुरक्षा में लगी होती.

पांचवा ह’म लोग उसके बंगले के गेट के बाहर उसकी बाइट लेने खड़े होते. सोशल मीडिया पर कमाल खान के ट्वीट पर खूब प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. उनका ट्वीट काफी वायरल हो रहा हैं.

साभार- जनसत्ता