न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने रचा इतिहास, चुनाव में भारी बहुमत से जीत

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने रचा इतिहास, चुनाव में भारी बहुमत से जीत

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न का दोबरा पीएम बनाना लगभग तय माना जा रहा है. दरअसल जेसिंडा आर्डर्न की पार्टी ने न्यूजीलैंड के आम चुनावों में भारी जीत हासिल की है. जेसिंडा आर्डर्न की पार्टी लेबर ने शनिवार को हुए आम चुनावों में भारी जीत हासिल की है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अब तक अधिकतर मत गिने जा चुके हैं. अब तक सामने आए नतीजों में लेबर पार्टी आगे चल रही है.

अभी तक के नतीजों में आर्डर्न की लेबर पार्टी को 49 फ़ीसदी वोट हासिल हो चुके है, जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि वो न्यूज़ीलैंड की राजनीति में दुर्लभ बहुमत हासिल कर सकती हैं.

वहीं प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न की लेबर पार्टी के उल्ट विपक्षी मध्य-पंथी नेशनल पार्टी को अब तक महज 27 फ़ीसदी वोट हासिल हुए है और इसी के साथ मध्य-पंथी नेशनल पार्टी ने अपनी हार भी स्वीकार कर ली है.

आपको बता दें कि न्यूजीलैंड में होने वाला यह आम चुनाव एक महिना पहले यानि सितंबर में ही होने वाला था लेकिन कोविड-19 महामा’री के चलते चुनावों को आगे बढ़ा दिया गया था.

बताया जा रहा है कि स्थानीय समय के मुताबिक मतदान सुबह नौ बजे शुरू हुआ था जो शाम सात बजे तक चला. लेकिन तीन अक्तूबर को शुरू हुए जल्द मतदान में दस लाख के क़रीब लोगों ने अपना वोट डाल दिया था.

आपको बता दें कि न्यूज़ीलैंड में आम चुनावों के साथ-साथ इस बार लोगों से दो जनमतसंग्रहों पर भी वोटिंग कराई गई है. जिनका नतीजा आना अभी बाकि है. चुनाव आयोग के अनुसार लेबर पार्टी को अब तक 49 फ़ीसदी, नेशनल पार्टी को 27 फ़ीसदी और ग्रीन और एक्ट न्यूज़ीलैंड पार्टी को 8-8 फ़ीसदी वोट प्राप्त हुए है.

वहीं नेशनल पार्टी की नेता जूडिथ कॉलिंस ने इस बड़ी जीत पर जेसिंडा आर्डर्न को मुबारकबाद दे दी है. साथ ही उन्हें अपनी अगली पारी के लिए शुभकामनाएं भी दी है. माना जा रहा है कि आर्डर्न की पार्टी को 64 सीटें हासिल हो सकती हैं.

आपको बता दें कि न्यूज़ीलैंड में 1996 में लागू हुई नई संसदीय प्रणाली के बाद से अब तक के इतिहास में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत हासिल नहीं हो पाया है. ऐसे में आर्डर्न इतिहास रचने के करीब मानी जा रही है. वहीं इससे पहले विश्लेषकों ने आर्डर्न की पार्टी को इतनी बड़ी जीत मिलने पर संदेह जताया था.

साभार- बीबीसी