न्यूजीलैंड बना कोरोना से जंग जीतने वाला पहला देश, Covid-19 वायरस हुआ पूरी तरह से खत्म

एक तरफ दुनिया भर में तेजी से कोरोना वायरस संक्र’मण के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ दुनिया में एक देश ऐसा भी है जिसने खुद को कोरोना मुक्त घोषित कर दिया हैं. जी हां न्यूजीलेंड दुनिया का पहला कोरोना मुक्त देश बन गया हैं. वहीं भारत की बात की जाए तो भारत अभी बुरी तरह से कोरोना से जूझ रहा है और यहां दिन वां दिन कोरोना के मामले बढ़ाते जा रहे हैं. ऐसे में भारत को न्यूजीलैंड से बहुत कुछ सीखने की जरूरत हैं.

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट इन पर प्रकाशित की गई एक खबर के अनुसार न्यूजीलैंड के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि न्यूजीलैंड कोरोना मुक्त हो चूका हैं. देश का आखिरी मरीज वायरस को हरा कर सं’क्रम’ण से उबर गया है. अधिकारियों के अनुसार पिछले 17 दिन में कोरोना वायरस का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है.

न्‍यूजीलैंड में एक महिला आखिरी कोरोना वायरस मरीज पाई गई थीं लेकिन पिछले 48 घंटे से उनमें भी कोई लक्षण सामने नहीं आया है. यह महिला मरीज आकलैंड के एक हॉस्पिटल में भर्ती है.

इसी के साथ न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डेन ने घोषणा कि अब उनका देश लेवन-1 अलर्ट से आगे बढ़ेगा. इसी के साथ अब सोमवार आधी रात से शादियों, अंतिम संस्‍कार और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बिना किसी पाबंदी के साथ शुरू किया जा सकेगा.

वहीं न्यूजीलैंड के स्वास्थ्य अधिकारियों ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि देश के बाहर से नए मामले सामने आ सकते हैं. इसी के चलते नागरिकों और निवासियों को छोड़कर अन्य सभी के लिए देश की सीमा बंद रहेगी.

न्यूज़ एजेंसी एपी के मुताबिक विशेषज्ञों का कहना है कि 5 लाख लोगों की आबादी वाले देश को इस बीमारी से उभरने में कई फैक्टर्स ने मदद की हैं. दक्षिण प्रशांत में स्थिल इस देश को काफी समय है साथ ही वायरस फैलने की तमाम जानकारियां भी मिली और दुसरे देशों की गलतियों के बारे में भी पता चला.

जिन से बचने के लिए प्रधानमंत्री जेसिंडा ऑर्डन ने न्यूजीलैंड के आउट ब्रेक के दौरान ही सख्त लॉकडाउन लागू कर दिया. इस दौरान देश में कोरोना के करीब 1500 मामले सामने आए जिसमें से 22 लोगों की मौ’त हुई.

इसे लेकर प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने बताया कि हम आश्वस्त थे कि हमारा देश कोरोना वायरस के प्रसार को रोक सकता हैं, लेकिन अभी भी इसे और अधिक तैयार किया जाना चाहिए.