रिपब्लिक भारत में नौकरी करने से अच्छा बेरोजगार रह लूंगी, नौकरी को लेकर एंकर का जवाब

रिपब्लिक टीवी पिछले काफी वक्त से अपने विवा’दित मीडिया कवरेज के लिए चर्चा में रहा है. मीडिया जगत में रिपब्लिक टीवी का दर्जा गिरता ही जा रहा है. रिपब्लिक टीवी ने तेजी से गिर से मीडिया के स्तर में और भी तेजी ला दी है. यही वजह है कि ज्यादातर लोग रिपब्लिक टीवी पर प’क्षपात और पार्टी विशेष के लिए एजेंडा लगाने का आरोप लगाते रहे है. रिपब्लिक टीवी के मुख्य और वि’वा’दित एंकर भी खासा वि’वा’द पैदा करते रहे है.

इसी बीच अब स्थिति यह हो गई है कि मीडिया से जुड़े लोग रिपब्लिक टीवी के साथ काम करने से परेहज करने लगे है. रिपब्लिक टीवी में नौकरी करने से रिपोर्टर तौबा करने लगे है, इसके उल्ट जो लोग चैनल के साथ जुड़े हुए है वो भी चैनल का साथ छोड़ते नजर आ रहे है.

republice

इसी दौरान टीवी एंकर श्वेता भट्टाचार्य ने रिपब्लिक भारत में नौकरी करने के मुद्दे को लेकर करारा जवाब दिया है जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

श्वेता का मानना है कि रिपब्लिक भारत में नौकरी करने से कई गुना अच्छा है बेरोजगार रहना. सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्वीटर पर किये एक ट्वीट में श्वेता ने लिखा कि मुझे बहुत से लोगों ने कहा कि रिपब्लिक भारत में अर्जी डाल दीजिए, वहां आप जैसे एंकर्स की बहुत जरूरत है.

श्वेता ने आगे लिखा कि इसके लिए यहीं जवाब देना मुनासिब लगा. जब प्रयास की थी वहां जाने की तब लगा था कि वहां पत्रकारिता होगी, खैर.. शु’भचिं’त’कों के लिए आपको बता दूं कि मैं रिपब्लिक भारत में कभी नहीं जाउंगी. उस चैनल में नौकरी से अच्छी बेरोजगारी.

उनका यह ट्वीट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है और इस पर जमकर प्रतिक्रियाएं भी आ रही हैं. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राजीव राय ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आप बधाई की पात्र हैं. अमिताभ जी के साथ पत्रकारिता करिए.

वहीं एक यूजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि इस आज कल तक का बहिष्कार होना बहुत जरूरी हो गया है. ये बिकाऊ लोग हैं Face with symbols over mouth सरकार को सरकारी अधिकारीयों, नेताओं के साथ-साथ इन हाई प्रोफाइल लाइफ स्टाइल में जीने वाले चैनल पत्रकारों और एंकरों की सम्पत्तियों की भी जाँच करना चाहिए जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो सके.

साभार- जनज्वार