JNU पर हुए ह’मले का जवाब? संस्कृत यूनिवर्सिटी में NSUI की ध’माकेदार जीत, बीजेपी समर्थित ABVP का..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी स्थित सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को तगड़ा झटका लगा है। नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया जो कि कांग्रेस समर्थित है ने ध’माकेदा’र जीत दर्ज की है। वहीं लगातार दो साल एबीवीपी चुनाव में एक भी पद नहीं बचा सकी (ABVP) को करारी मात देते हुए NSUI ने सभी सीटों पर अपना कब्जा जमा लिया है।

बता दें सभी पदों पर एनएसयूआई के जीत दर्ज करने पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्विट कर सभी को बधाई दी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने ट्विट में लिखा कि संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनावों में एनएसयूआई की चारों पदों पर विजय से मैं बहुत खुश हूं। अपने छात्र साथियों पर मुझे गर्व है।

आपको बता दें बुधवार को आए नतीजों के मुताबिक अध्यक्ष के पद पर शिवम शुक्ला, जबकि उपाध्यक्ष के पद पर चंदन कुमार मिश्र, महामंत्री के पद पर अवनीश मिश्र और पुस्तकालय मंत्री के पद पर रजनीकांत दुबे ने जीत हासिल की है।

इससे पहले वर्ष 2016 में इन सभी पद पर एनएनयूआई ने जीत दर्ज की थी। लेकिन इस बार हुए चुनाव में उसे इन चारों सीटों से हाथ धोना पड़ा। बता दें बुधवार को मतदान हुए और 50.82 फीसदी ही वोटिंग हो सकी। कुल 1950 वोटों में 991 वोट पड़े। इसमें 931 छात्र और 60 छात्रों ने मताधिकार का प्रयोग किया। दोपहर दो बजे तक मतदान और तीन बजे मतगणना शुरू हुई।

बता दें करीब साढ़े पांच बजे चुनाव अधिकारी प्रो.शैलेश कुमार मिश्र ने चुनाव परिणाम की घोषणा की। इसके बाद कुलपति प्रो.राजाराम शुक्ल ने नए पदाधिकारियों को शपथ दिलाई। लेकिन शपथ के बाद यूनिवर्सिटी में किसी प्रकार का कोई जुलूस न निकले और किसी प्रकार के विवाद से बचने के लिए पुलिस ने विजयी प्रत्याशियों को उनके घर भेज भेज दिया।

बता दें कि प्रियंका गांधी शुक्रवार को वाराणसी क्षेत्र का दौरा करेंगी। जहां वो बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों समेत सिविल सोसाइटी और आम लोगों से मुलाकात करेंगी।