VIDEO: डॉ नदीम रहमान ने बना दी हिंदुस्तान की पहली कोरोना रैपिड टेस्टिंग किट, बेहद सस्ती और 15 मिनट में देगी रिज़ल्ट

नोएडा: कोरोना वायरस के संक्रमण ने दुनिया भर के करीब 200 देशों में कोहराम मचा रखा है. भारत में भी कोरोना के अब तक 12,000 से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, वहीं मौ’त का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है. अब सबसे बड़ा सवाल ये है की कोराना म’हामा’री को रोकने के लिए इसके इलाज के लिए हमारे पास कितनी सुविधाएं उपलब्ध है इसका सीधा सा जवाब है. भारत अभी उन देशों में शामिल है. जहां इलाज और टेस्टिंग की सुविधाएं बहुत कम उपलब्ध हैं।

वही एक और दूसरी बड़ी समस्या टेस्टिंग की सुविधाओं और इसके होने वाले खर्च को लेकर है. अभी भारत में कोरोना वायरस का टेस्ट बहुत महंगा है जो आसानी से उपलब्ध भी नहीं हो पा रहा है. इसको लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) जैसी भारतीय नियामक संस्था परेशान है.

डॉ नदीम रहमान की बनायी देश की पहली कोरोना टेस्टिंग किट ‘इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च’ में पास हुयी

अब इसी बीच नोएडा की Nu Life लेबोरेट्री ने बड़ी परेशानी का हल निकाला है. यह लेबोरेट्री एक ऐसी टेस्टिंग किट लेकर आई है. जो महज 15 मिनट में कोरोना वायरस को टेस्ट कर देती है इसकी कीमत भी महल 500 रूपए के अंदर रखी गई है. इसका उत्पादन नोएडा की इस लेबोरेट्री ने शुरू कर दिया है और उम्मीद जताई जा रही है कि यह अगले कुछ दिनों में ही लोगों को उपलब्ध होने लगेगी।

बता दें नूलाइफ कंसल्टेंट एंड डिस्ट्रीब्यूटर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी शहर में एक लाख रैपिड एंटीबॉडीज टेस्ट किट प्रतिदिन तैयार करेगी, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) की ओर से सोमवार को अनुमति मिलने के बाद कंपनी की नोएडा सेक्टर-7 स्थित तीन लैब में किट का उत्पादन शुरू हो गया है।

पहले चरण में कंपनी ने उप्र सरकार को सू’क्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) एवं निर्यात प्रोत्साहन विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल के माध्यम से 200 किट उपलब्ध कराई हैं. रैपिड एंटीबॉडीज टेस्ट किट के माध्यम से कोरोना संक्रमित व सं’दिग्धों’ की जांच रिपोर्ट न्यूनतम पांच और अधिकतम 15 मिनट में सामने आ जाएगी।

जर्मनी की तर्ज पर पूल टेस्टिंग करने वाला यूपी देश का पहला राज्य

अब यह देश की पहली कंपनी बन गई है, जो कोरोना के लिए रैपिड एंटीबॉडीज टेस्ट किट का निर्माण शुरू कर रही है. न्यूलाइफ कंसल्टेंट एंड डिस्ट्रीब्यूटर प्रा. लि के निदेशक डॉ नदीम रहमान का कहना है कि रैपिड एंटीबॉडीज टेस्ट किट को परीक्षण के लिए नौ अप्रैल को पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल भेजा गया था वहां टेस्ट किट के पास होने के बाद आइसीएमआर ने इसके निर्माण की अनुमति दे दी है।

डॉ नदीम रहमान ने मुताबिक कंपनी तीन लैब सेक्टर-7 स्थित डी-5, डी-18, डी-22 में मौजूद है प्रत्येक लैब में 45 से 50 डॉक्टर काम कर रहे है. हलाकि इसके लिए शासन व प्रशासन से सहयोग मांगा है. अनुमति मिलते ही अगले सप्ताह से रोज एक लाख किट का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा इस कार्य में डॉ. शालिनी शर्मा, डॉ. शीलू, डॉ. अफीफा, डॉ. जहीर अहमद और डॉ. अब्बास की टीम काम कर रही है।

 

Nu Life Care के निर्देशक डॉक्टर नदीम रहमान का कहना है कि यह एंटीबॉडी टेस्ट किट है. जो बहुत कम समय में रिजल्ट देती है यह किट बनाने का मकसद कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों का टेस्ट करना और इसे कास्ट इफेक्टिव बनाना था यही वजह रही है कि हम लोगों ने इस किट को महज 500 रूपए में आम आदमी तक पहुंचाने है।

डॉक्टर नदीम रहमान का कहना है. बुरे वक्त में हम लोगों की स्किल और हमारी मेहनत देश के काम आ रही है. यह हमारे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

Leave a Comment