तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन की हार का ठीकरा ओवैसी पर क्यों फोड़ा जा रहा है?

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद अधिकतर न्यूज़ चैनल और सोशल मीडिया पर महागठबंधन की हार की वजह असदुद्दीन औवेसी की पार्टी AIMIM को बताया जा रहा है.

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की अगुआई में एनडीए (NDA) ने एक बार फिर सत्ता हासिल कर ली है. एनडीए ने राज्य में 125 सीटें हासिल की है. हालांकि, बिहार चुनाव के नतीजों के साथ सियासी नक्शे में काफी बदलाव आया है. हलाकि 2015 विधानसभा चुनाव के आंकड़ों से तुलना करने पर इस बार के चुनाव नतीजों के आंकड़ों को खंगालने पर कई दिलचस्प बातें सामने आ रही हैं।

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) की पार्टी ‘राष्ट्रीय जनता दल’ (RJD) को भले ही सत्ता तक नहीं पहुंच पाई हो, लेकिन उन्होंने वोटों और सीटों के मामले में बीजेपी को पटखनी दे दी है. बिहार में तमाम एग्जिट पोल को गलत साबित करते हुए एनडीए ने एक बार फिर सत्ता हासिल कर ली है।

OWASI

बिहार विधानसभा चुनाव में तीन चरणों में 243 सीटों पर हुए चुनाव में एनडीए को 225 सीटें हासिल कर ली है. वही तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले पांच दलों के महागठबंधन ने 110 सीटों के साथ कड़ी टक्कर दी है. वही असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की है।

वही एआईएमआईएम की जीत को लेकर कांग्रेस सहित तमाम सियासी दलों ने असदुद्दीन ओवैसी पर हम’ला बोला है. वही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि AIMIM ने चुनाव लड़कर बीजेपी की मदद की है. जिससे महागठबंधन को काफी नुकसान पहुंचाया है।

बता दें बिहार के सीमांचल इलाक़े में 24 सीटे हैं. जिसमे सबसे ज़्यादा सीटों पर मुसलमानों की आबादी है. असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम इनमें से पांच सीटों हासिल की है. वही (AIMIM) की इस जीत से राजनीतिक विश्लेषक ये मान रहे की तेजस्वी यादव और संपूर्ण महागठबंधन के लिए करारा झटका लगा है।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा की बिहार चुनावों में तेजस्वी के नेतृत्व वाले महागठबंधन को मिली सफलता के लिए में बधाई देता हूं. और एक बार फिर ओवैसी जी की एमआईएम ने चुनाव लड़ कर बीजेपी को अंदरूनी तौर पर मदद पहुंचाई है. देखना है वह बिहार में बीजेपी और जेडीयू की सरकार बनाने में एनडीए का सहयोग करेंगे या महागठबंधन का।

आपको बता दें बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से प्रदेश में सत्ताधारी एनडीए ने 125 सीटें जीत एक बार फिर प्रदेश में सत्ता हासिल कर ली है वहीं, महागठबंधन ने 110 सीट मिली हैं. एनडीए में शामिल बीजेपी ने 74 सीटों पर, और जेडीयू ने 43 सीटों पर जीत दर्ज की है।